Sign In
  • हिंदी

Kidney Stones से जुड़े इन 3 मिथकों पर भरोसा कर लोग कर लेते हैं अपना नुकसान, जानें कौन-से Common मिथ्स हैं ये

किडनी स्टोन्स की समस्या से आराम पाने के लिए लोग कई बार सुनी-सुनाई बातों पर विश्वास कर लेते हैं और उनपर अमल भी करने लगते हैं जिससे उनकी समस्या और भी गम्भीर हो सकती है।

Written by Sadhna Tiwari |Updated : September 12, 2022 2:53 PM IST

Myths And Facts About Kidney Stones: किडनी शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है जो रक्त को फिल्टर (filtering blood) करता है और शरीर में जमा हानिकारक और विषैले तत्वों (Removing Toxins from body) को बाहर निकालता है। किडनी के इन कार्यों के आधार पर यह समझा जा सकता है कि अगर आपकी किडनी स्वस्थ नहीं रहती तो इससे आपके पूरे शरीर के स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है और कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं। किडनी में होने वाली पथरी या किडनी स्टोन (Kidney Stone) ऐसी ही एक समस्या है। यह एक तकलीफभरी स्थिति है जिसमें कई बार सर्जरी कराने की भी जरूरत पड़ सकती है। किडनी स्टोन होने पर जहां बड़े स्टोन्स को बाहर निकाल दिया जाता है वहीं, कई बार डॉक्टर्स कुछ छोटे-छोटे स्टोन्स को किडनी में  यूं हीं छोड़ देते हैं। क्योंकि, आकार में बहुत छोटे होने की वजह से  कई बार मरीजों में किसी तरह की परेशानी या लक्षण नहीं दिखायी देते और बहुत छोटी पथरी होने पर सर्जरी नहीं की जाती।

किडनी स्टोन्स (Kidney stones) में मरीजों को दर्द महसूस होता है।  इस तकलीफ से राहत पाने के लिए लोग अलग-अलग प्रकार के तरीके आजमाते हैं। वहीं, आसपास के लोगों की सलाह के अनुसार वे कुछ चीजों का सेवन करने लगते हैं या अपनी डाइट से किसी अन्य चीज को पूरी तरह से निकाल देते हैं। लेकिन, कई बार इन चीजों को फॉलो करने से उन्हें फायदे की बजाय नुकसान भी हो सकता है। यहां पढ़ें किडनी स्टोन्स से जुड़े ऐसे ही कुछ मिथकों के बारे में जो आमतौर पर बहुत प्रचलित हैं और लोग इनपर विश्वास कर अपना नुकसान कर लेते हैं। (Myths And Facts About Kidney Stones In Hindi.)

किडनी स्टोन्स से जुड़े इन मिथकों पर विश्वास करने से पहले जान लें इनका सच (Common myths around kidney stones)

Also Read

More News

क्या पथरी के मरीजों को टमाटर नहीं खाना चाहिए?

खून में पोटैशियम की मात्रा (potassium levels) बढ़ जाने के बाद मरीजों को टमाटर खाने से मना किया जाता है। इसके अलावा अन्य स्थितियों में टमाटर का सेवन किया जा सकता है।

किडनी स्टोन्स के मरीजों को दूध नहीं पीना चाहिए

कई लोगों का तर्क है कि कैल्शियम का सेवन करने से पथरी के मरीजों की समस्या बढ़ सकती है और चूंकि दूध कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत है इसीलिए, इसका सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन, एक्सपर्ट्स के अनुसार, सीमित मात्रा में दूध का सेवनकरने से किडनी स्टोन्स बनने से रोका जा सकता है। हालांकि, दूध का सेवन सीमित मात्रा में करने की ही सलाह किडनी के मरीजों को दी जाती है। कम मात्रा में कैल्शियम लेने से हड्यियों में कैल्शियम की कमी हो सकती है और ऑक्सलेट के अवशोषण से जुड़ी परेशानियां भी हो सकती हैं।

किडनी स्टोन की वजह से पीठ में दर्द हो सकता है।

पथरी की वजह से किडनी में दर्द हो सकता है वहीं कुछ मामलों में स्टोन्स होने के बावजूद मरीजों को दर्द महसूस नहीं होता। जब किडनी स्टोन की वजह से पेशाब करने में दिक्कत होती है तो इससे पीठ पर अधिक प्रेशर बनता है और इस स्थिति में लोगों को पीठ में गम्भीर दर्द की शिकायत हो सकती हैं। इसके साथ-साथ लोगों को उल्टी, पेशाब में खून और यूरीन पास करते समय जलन जैसी परेशानियां भी सकती है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on