Sign In
  • हिंदी

Cold Water Bath Therapy : बर्फीले पानी में नहाने के 8 सेहत लाभ

© Shutterstock

कोल्ड वाटर बाथ थेरेपी (cold water bath therapy) गर्मी से राहत तो दिलाता ही है, साथ ही इसमें मौजूद कई पॉजिटिव एफेक्ट्स बॉडी के लिए भी फायदेमंद होते हैं।

Written by Anshumala |Published : August 12, 2019 2:29 PM IST

अब तक स्पा में हॉट वाटर बाथ का मजा आप लेते आए हैं, पर क्या कभी कोल्ड वाटर बाथ (cold water bath therapy) में बॉडी को कूल किया है? कोल्ड वाटर बाथ/थेरेपी (cold water bath therapy) गर्मी से राहत तो दिलाता ही है, साथ ही इसमें मौजूद कई पॉजिटिव एफेक्ट्स बॉडी के लिए भी फायदेमंद होते हैं। यह बेस्ट एन्टीएजिंग सीक्रेट होने के साथ त्वचा को ग्लोइंग और रेडिएंट लुक भी देता है। इसके अलावा इसमें दीर्घायु के तत्व भी छिपे हुए हैं। कोल्ड वाटर बाथ के कई फायदे भी होते हैं सेहत पर जैसे इनक्रीज्ड पेरिफेरल सर्कुलेशन, इमबैलेंस्ड मेंटल व इमोशनल स्टेट्स में इंप्रूवमेंट भी लाता है।

हालांकि, कई लोग बर्फीले पानी में स्नान करना तो क्या उसे छूने से भी घबराते हैं, क्योंकि उनका बॉडी कंफर्ट लेवल उसे सहन करने के काबिल नहीं होता। ऐसे में वे इसके फायदों से वंचित रह जाते हैं। यह कोई नई तकनीक नहीं बल्कि काफी प्राचीन तकनीक है, जो रेडिएंट हेल्थ को प्रमोट करता है। माना जाता है कि यदि आप सुबह-सुबह शरीर को कोल्ड वाटर में कुछ मिनट रखते हैं, तो आप जिंदगी का हर बड़ा से बड़ा कार्य सफलतापूर्वक कर पाने में सक्षम हो सकते हैं।

कोल्ड वाटर बाथ थेरेपी के फायदे

1 कोल्ड वाटर ब्लड प्रेशर (cold water bath therapy benefits) को स्थिर करने में मददगार होता है। जो लोग खुद को देर तक फ्रीजिंग वाटर में रखते हैं, उसकी वजह शरीर में मौजूद नेचुरल रिएक्शन ऑटोनोमिक नवर्स सिस्टम है। ब्राीदिंग और हार्ट रेट की तरह ही यह सिस्टम शारीरिक क्रियाओं को नियंत्रित करती है। कोल्ड वाटर ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाले ऑटोनोमिक नवर्स सिस्टम को सक्रिय कर कार्य करता है। जितना आप अपने शरीर को कोल्ड वाटर में एक्सपोज करेंगे, उतनी ही मजबूत ऑटोनोमिक प्रतिक्रिया मिलेगी। ऐसे में प्रतिदिन ठंडे पानी से नहाना वास्तव में आपके सरकुलेटरी सिस्टम को अधिक समय के लिए मजबूती प्रदान करते हैं।

2 कई अध्ययनों में पाया गया है कि जो मरीज कोल्ड वाटर थेरेपी (cold water bath therapy benefits) से गुजर चुके हैं, उनमें बीमारियों को कम करने में मददगार व्हाइट ब्लड सेल्स का स्तर काफी बढ़ा हुआ पाया गया। जब ठंडा पानी स्किन को हिट करता है, तो सरफेस पर स्थित रोएं (कैपिलरीज) फैलने से शरीर के अंदरूनी हिस्से (डीप पार्ट्स) से खून त्वचा की ऊपरी सतह पर पहुंचकर हमें गर्मी का अहसास कराता है।

3 कोल्ड बाथ इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करता है (ऐसा तब होता है, जब आप 10 मिनट कोल्ड बाथ लेते हैं, इतना समय बॉडी टाइप के लिए प्रतिकूल होता है)। स्किन से टॉक्सिन साफ करता है।

4 ब्लड सरकुलेशन बढ़ाता है, जिससे शरीर से सभी टॉक्सिन बाहर निकलते हैं (यह खासकर मांसपेशियों और स्किन की सरफेस के लिए फायदेमंद है)। सरकुलेटरी सिस्टम को रिपेयर करता है।

5 पोर्स को स्नान के दौरान बंद रखता है, इससे न तो पानी और ना ही स्किन पर लगे प्रोडक्ट्स एब्जॉर्ब होते हैं। ऐसा हॉट बाथ में नहीं होता, क्योंकि इसमें पोर्स खुल जाते हैं।

6 इसमें स्टीम कम होता है, क्योंकि यह हॉट नहीं होता इसलिए लंग में स्टीम के जरिए कम से कम क्लोरीन इनहेल होता है।

7 पुरुषों में फर्टिलिटी को बढ़ाता है (टेस्टिकल पर कूलर टेमप्रेचर पड़ने से स्पर्म काउंट बढ़ाता है, पर बहुत देर तक ठंडे पानी में रहने से अनुत्पादक या प्रतिकूल असर भी कर सकता है)।

8 यह हिम्मती बनाने के साथ इच्छा शक्ति भी बढ़ाता है। आपके खुद के या किसी दूसरे से ग्रहण किया हुआ बॉडी और माइंड के निगेटिव इमोशन्स को क्लिंज करता है।

कोल्ड बाथ कब अवॉएड करें

पीरियड्स के दौरान इसे हैंडल करना मुश्किल होता है।

सात महीने की प्रेगनेंट वूमेन को इससे दिक्कत हो सकती है, क्योंकि इसकी पहली प्रतिक्रिया या एक्सपीरियंस शॉकिंग हो सकती है।

जब कोइ पुरुष सेक्स के दौरान स्खलित कर चुका हो, क्योंकि उसके तुरंत बाद ही शरीर दोबारा वीर्य और स्पर्म सेल्स के निर्माण में जुट जाता है। ऐसे में कोल्ड बाथ स्ट्रेसफुल हो सकता है।

कुछ लोगों में यह डिप्रेशन को वर्स कर देता है, तो कुछ में डिप्रेशन कम होता पाया गया है।

आपके नहाने का तरीका सही नहीं, जानें कैसे नहाने से बच सकती है जान

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on