Advertisement

Cold and cough : सामान्‍य है साल में तीन बार जुकाम होना, जानें जुकाम के बारे में कुछ रोचक तथ्‍य

मौसम बदलते ही कुछ लोग जुकाम और बुखार के शिकार हो जाते हैं। पर घबराइए नहीं साल में तीन बार जुकाम होने को डॉक्‍टर भी गलत नहीं मानते। © Shutterstock

मौसम बदलते ही कुछ लोग जुकाम और बुखार के शिकार हो जाते हैं। पर घबराइए नहीं साल में तीन बार जुकाम होने को डॉक्‍टर भी गलत नहीं मानते।

मॉनसून को मौसम शुरू हो चुका है। यह जितना सुहावना है उतना ही ज्‍यादा मुश्किल भरा भी। अब तक कई लोग जुकाम-बुखार (Cold and cough) और मौसमी संक्रमण के शिकार होने लगे हैं। कहने-सुनने में सामान्‍य सी लगने वाली यह बीमारी (Cold and cough) मरीज का हाल बुरा कर देती है। पर क्‍या आप जानते हैं कि असल में जुकाम (Cold and cough) का कोई इलाज नहीं है। आइए आपको बताते हैं जुकाम से जुड़े ऐसे ही कुछ रोचक तथ्‍य।

क्‍या है जुकाम (Cold and cough)

सामान्य ज़ुकाम को नैसोफेरिंजाइटिस, राइनोफेरिंजाइटिस, अत्यधिक नज़ला या ज़ुकाम के नाम से भी जाना जाता है। यह ऊपरी श्वसन तंत्र का आसानी से फैलने वाला संक्रामक रोग है। अमूमन यह नाक को प्रभावित करता है। जिसके बाद गले में इंफेक्‍शन, सिर दर्द, बदन दर्द और बुखार भी हो सकता है।

[caption id="attachment_679262" align="alignnone" width="655"]cold-and-cough लक्षण आमतौर पर सात से दस दिन के भीतर समाप्त हो जाते हैं। हालांकि कुछ लक्षण तीन सप्ताह तक भी रह सकते हैं। © Shutterstock[/caption]

जुकाम के लक्षण (Cold and cough)

इसके लक्षणों में खांसी, गले की खराश, नाक बहना और बुखार शामिल हैं। यह जुकाम के लक्षण हैं । असल में लोग इसी को जुकाम समझ लेते हैं। लक्षण आमतौर पर सात से दस दिन के भीतर समाप्त हो जाते हैं। हालांकि कुछ लक्षण तीन सप्ताह तक भी रह सकते हैं।

Also Read

More News

जुकाम का कारण (Cold and cough)

आप यह मान सकते हैं कि ठंड में अपना बचाव न करने के कारण या फि‍र बारिश में भीगने के कारण आपको जुकाम हो सकता है। पर डॉक्‍टर कहते हैं कि ऐसे दो सौ से अधिक वायरस होते हैं जो सामान्य ज़ुकाम का कारण बन सकते हैं। राइनोवायरस इसका सबसे आम कारण है। कुछ लोगों की नाक में डर्ट और डस्‍ट पार्टिकल जाने से भी वे जुकाम से ग्रस्‍त हो जाते हैं।

जुकाम का उपचार (Cold and cough)

सामान्य ज़ुकाम के लिए कोई इलाज नहीं है, लेकिन इसके लक्षणों का इलाज किया जा सकता है। यह, मनुष्यों में सबसे अधिक होने वाला संक्रामक रोग है। औसत वयस्क को प्रतिवर्ष दो से तीन बार ज़ुकाम होता है। औसत बच्चे को प्रतिवर्ष छह से लेकर बारह बार ज़ुकाम हो सकता है। ये संक्रमण प्राचीन काल से मनुष्यों में होते आ रहे हैं।

जुकाम के बारे में यह भी जानें (Cold and cough)

  • ज़ुकाम के सबसे आम लक्षणों में खांसी, नाक बहना, नासिकामार्ग में अवरोध और गले की खराश शामिल हैं।
  • अन्य लक्षणों में मांसपेशियों का दर्द (माइएल्जिया), थकान का अनुभव, सर में दर्द और भूख का कम लगना सम्मिलित किया जा सकता है।
  • ज़ुकाम से पीड़ित लगभग 40% लोगों में गले की खराश मौजूद होती है। लगभग 50% लोगों को खांसी/कफ़ होता है। लगभग आधे मामलों में मांसपेशियों में दर्द होता है।
  • बुखार वयस्कों में एक असामान्य लक्षण है, लेकिन नवजात शिशुओं और छोटे बच्चों में यह आम है।
  • ज़ुकाम के कारण होने वाली खांसी, फ़्लू (इन्फ्लुएंजा) के कारण होने वाली खांसी की तुलना में हल्की होती है।
  • वयस्कों में खांसी और बुखार फ़्लू (इन्फ्लुएंजा) के होने की संभावना की और संकेत करते हैं।
  • कई ऐसे वायरस जो सामान्य ज़ुकाम का कारण होते हैं, कोई लक्षण प्रदर्शित नहीं करते।
  • निचले वायुमार्ग (स्प्यूटम) से आने वाले बलगम का रंग स्पष्ट से लेकर पीला और हरा तक हो सकता है। बलगम का रंग यह संकेत नहीं देता कि संक्रमण जीवाणु द्वारा हुआ है या विषाणु द्वारा।

Healthy soup : जुकाम-बुखार में राहत देगा मिक्‍स वेजीटेबल सूप, इस विधि से करें तैयार

सर्दी-जुकाम से हैं परेशान तो बनाएं ये  बरसों पुरानी परखी हुई रेसिपी

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on