Advertisement

क्या कफ सिरप से दांतों में कैविटी होती है?

बच्चों के कफ सिरप में होते हैं- हाई फ्रूक्टोज़ कॉर्न सिरप, साइट्रिक एसिड और सुक्रोज़।

कफ सिरप भी एक दवा ही है और इसीलिए लाज़मी है कि उसका स्वाद अच्छा नहीं होगा।लेकिन फिर दवा बनानेवालों ने इसे थोड़ा स्वादिष्ट बनाने की सोची और इसे मीठा बनाने के लिए इसमें मिलायी गयीं 3 चीज़ें- हाई फ्रूक्टोज़ कॉर्न सिरप, साइट्रिक एसिड और सुक्रोज़। सिरप को मीठा स्वाद मिलने के बाद उन्हें बाज़ार में बेचना आसान हो गया। लेकिन इन सबके बीच सिरप हमारे दांतों को नुकसान पहुंचाने लगा।

अब अगर आपने फ्रूक्टोज़ या कॉर्न सिरप के बारे में पहले नहीं सुना या आप इसके बारे में नहीं जानते तो हम आपको बता दें कि यह कैंडी, सोडा, केक, जूस, चॉकलेट जैसे जंक फूड में इस्तेमाल किया जाता है। सच तो यह है कि कॉर्न सिरप को शक्कर से भी ज़्यादा खतरनाक चीज़ माना जाता है। ये स्वीटनर्स मोटापा, दिल की बीमारियों और मेटाबोलिक सिंड्रोम (metabolic syndrome) के खतरे को बढ़ाने वाले माने जाते हैं।

जहां आजकल माताएं अपने बच्चे के लिए खाने-पीने की कोई चीज खरीदते समय ध्यान से उसका लेबल पढ़ती हैं कि कहीं उसमें कॉर्न सिरप तो मिलाया नहीं गया है वहीं उन्हें बच्चों के लिए तैयार किए गए कफ सिरप में इसकी मौजूदगी के बारे में बिल्कुल जानकारी नहीं होती। यहां तक कि वयस्क भी इस तरह के सिरप पीते हैं क्योंकि इन्हें पीने से नींद आने लगती है, जो कि लगातार खांसी आने से आपको रात में जागना पड़ सकता है।

Also Read

More News

फोर्टिस मलेर हॉस्पिटल, चेन्नई में ओरल और मैक्सिलोफैशियल सर्जन डॉ. नंदकुमार, का मानना है कि कफ सिरप बहुत ज़्यादा पीने से हमारी दांतों की सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है। "सूखे मौसम में, लोग लगातार खांसी से कुछ राहत पाने के लिए कफ सिरप पीते हैं। लेकिन इन दवाओं में मौजूद मिठास बैक्टीरिया को पनपने के लिए अनूकूल माहौल दे सकती है।," उन्होंने आगे बताया कि बैक्टीरिया एक तेज़ एसिड पैदा करता है जो डेंटल एनेमल को नुकसान पहुंचाता है, जिसके चलते दांतों में गड्ढे-छेद और कैविटी होने लगती है।

"ज्यादातर लोगों को सोने के ठीक पहले कफ सिरप पीने की आदत होती है, और वो सिरप पीकर सीधा बिस्तर में चले जाते हैं और अपना मुंह या गला साफ नहीं करते। इसकी वजह से बैक्टीरिया पैदा हो सकता और हानिकारक एसिड उत्पन्न होने के लिए पर्याप्त समय मिलता है।"

आपको क्या करना चाहिए

कफ सिरप पूरी तरह से छोड़ने की कोई जरूरत नहीं है। बस अपने मुंह की साफ-सफाई का थोड़ा-सा ध्यान रखें जैसे-

  • कफ सिरप पीने के तुरंत बाद अपने मुंह को साफ करें। तुरंत सोने ना चले जाएं।
  • दवा के निशान हटाने के लिए हल्के-से ब्रश करें।
  • इसे खाना खाते समय ही पी लें। इस तरह, कफ सिरप को दांतों से हटाने के लिए आपके  मुंह में पर्याप्त लार बनती रहेगी और वह दांतों को कम नुकसान पहुंचाएगा।

Read this in English.

अनुवादक-Sadhana Tiwari

चित्रस्रोत- Shutterstock

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on