Advertisement

जानें, डायबिटीज से बचाव के लिए सप्ताह में कितनी बार ब्लड शुगर लेवल की जांच करनी चाहिए?

कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा डायबिटीज रोगियों को सबसे ज्यादा है। ऐसे समय में, डायबिटीज के मरीजों को अपना विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। मधुमेह होने पर खासतौर से शुगर लेवल चेक करते रहना चाहिए। जानिए, एक सप्ताह में कितनी बार डायबिटीज होने पर शुगर लेवल चेक करनी चाहिए...

How to Test Blood Sugar Level in Hindi: कोरोनावायरस के संक्रमण का खतरा (risk of coronavirus infection) उन लोगों के लिए सबसे अधिक है, जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी जैसे डायबिटीज (diabetes), हार्ट डिजीज (heart diseases), स्ट्रोक (Stroke), फेफड़े से संबंधित रोग (Lung Disease) आदि से पीड़ित हैं। ऐसे समय में, डायबिटीज रोगियों (Diabetes patients) को अपना विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। मधुमेह रोगियों को खासतौर से अपना शुगर लेवल (blood sugar level in hindi) चेक करते रहना चाहिए। इसमें जरा सी भी लापरवाही बरतना खतरनाक हो सकता है।

ऐसे इसलिए जरूरी है, क्योंकि ब्लड शुगर लेवल चेक करने से दवाओं और इंसुलिन के संयोजन में मदद मिलती है, तब भी जब आप कोरोना या किसी अन्य संक्रमण से पीड़ित होते हैं। एक शोध के अनुसार, सिर्फ 28% मधुमेह रोगी ऐसे हैं, जो लॉकडाउन के समय नियमित रूप से अपने रक्त शर्करा की जांच करते हैं। आइए जानते हैं कि डायबिटीज के रोगियों को एक सप्ताह में कितनी बार अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच करनी चाहिए...

लोगों को नहीं होती ब्लड शुगर जांचने की जानकारी

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि ऐसा इसलिए है, क्योंकि ज्यादातर लोगों के पास ब्लड शुगर मापने (How to Test Blood Sugar Level) की मशीन या उनकी स्ट्रिप (Strip) नहीं होती है। इतना ही नहीं, अधिकतर लोग खुद से कभी भी अपने ब्लड शुगर लेवल को नहीं मापते हैं।

Also Read

More News

लॉकडाउन में कम ही लोग करते हैं टेस्ट

विशेषज्ञों के अनुसार, लॉकडाउन में ज्यादातर लोगों के ब्लड शुगर लेवल में कोई सुधार नहीं देखा जा रहा है, जबकि उनमें से 80% नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं और अपने डायट को कंट्रोल कर रहे हैं। अधिकांश डायबिटीज के मरीज बहुत कम ब्लड शुगर लेवल की जांच करते हैं या कोई भी परीक्षण नहीं करते हैं। हैरानी की बात तो यह है कि ये सभी लोग लंबे समय से इंसुलिन और गोलियों पर निर्भर हैं और हाइपोग्लाइकेमिया या लो ब्लड शुगर (hypoglycaemia) से पीड़ित हैं। लॉकडाउन के दौरान, यदि रक्त शर्करा में कोई परिवर्तन होता है, तो इसकी जांच बार-बार करते रहना चाहिए।

कोरोना का खतरा किन्हें है अधिक

एक स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, कोरोना काल में बहुत जरूरी है कि आप अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच नियमित (How often diabetes patient to Test Blood Sugar Level) रूप से करते रहें, क्योंकि यदि आपकी उम्र अधिक है या कोई गंभीर बीमारी है, जैसे डायबिटीज, हार्ट डिजीज, अस्थमा तो कोरोना होने पर ये सभी समस्याएं और भी अधिक गंभीर रूप धारण कर सकती हैं।

ब्लड शुगर टेस्ट किसे कराना चाहिए (who should do blood sugar test?)

विशेषज्ञों के अनुसार, नियमित रूप से ब्लड शुगर लेवल की जांच करना महत्वपूर्ण इसलिए है, क्योंकि रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि तब होती है, जब डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति में स्ट्रेस हार्मोन के रिलीज होने के कारण वायरल से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। जो लोग इंसुलिन थेरेपी ले रहे हैं, उन्हें दिन में कम से कम दो बार शुगर लेवल की जांच करनी चाहिए। इसके अलावा जो लोग दवा पर निर्भर हैं और जिनका शुगर लेवल सही रहता है, वे सप्ताह में दो बार शुगर की जांच जरूर करें।

Diabetes and Coronavirus: टाइप 2 डायबिटीज मरीजों के लिए बेहद खतरनाक है कोरोना, इन कारणों से हो सकती है 7 दिनों में मौत

Diabetes and Coronavirus: कोविड-19 इंफेक्शन से बचाव के लिए डायबिटीज रोगी रखें इन बातों का ख्याल

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on