• हिंदी

Heart attack आने के बाद इन 5 सलाह पर भूलकर भी न करें विश्वास! दिल हो जाएगा पहले से भी कमजोर

Heart attack आने के बाद इन 5 सलाह पर भूलकर भी न करें विश्वास! दिल हो जाएगा पहले से भी कमजोर
Heart attack आने के बाद इन 5 सलाह पर भूलकर भी न करें विश्वास! दिल हो जाएगा पहले से भी कमजोर

Heart Health Myth : अक्सर जब किसी व्यक्ति को दिल से जुड़ी कोई शिकायत होती है तो उसे कई तरह की सलाह दी जाती है, जिसमें चाहते या फिर न चाहते हुए भी आपको मानना ही पड़ता है। लेकिन आप इनकी सच्चाई जरूरी जानें।

Written by Jitendra Gupta |Published : January 26, 2023 12:59 PM IST

Heart Health Myth : दिल हमारे शरीर का सबसे जरूरी अंग है और इसमें कोई दो राय नहीं कि इसकी सेहत का ख्याल रखना आपके लिए सबसे जरूरी है ताकि आप लंबा और हेल्दी जीवन जी सकें। अक्सर जब किसी व्यक्ति को दिल से जुड़ी कोई शिकायत होती है तो उसे कई तरह की सलाह दी जाती है, जिसमें चाहते या फिर न चाहते हुए भी आपको मानना ही पड़ता है। बहुत से लोग इस चक्कर में अपने डेली रूटीन को भी बदल देते हैं लेकिन जब कोई खास असर नहीं पड़ता तो उन्हें थक हार कर फिर से वही रूटीन फॉलो करना पड़ता है। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ मिथ के बारे में, जो आपकी दिल की सेहत से जुड़े हुए हैं, जिनपर आपको विश्वास नहीं करना चाहिए।

दिल की सेहत से जुड़े 5 मिथ

मिथः उम्र बढ़ने के साथ बढ़ता है कोलेस्ट्रॉल और हाई ब्लड प्रेशर

सच्चाईः उम्र बढ़ने के साथ बीपी बढ़ता है इसमें कोई दो राय नहीं लेकिन सिर्फ यही एकमात्र कारण नहीं है। जरूरी नहीं है कि उम्र की वजह से आपका बीपी या फिर कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है। दरअसल उम्र के साथ-साथ आपकी नसें सख्त और अकड़ने लगती है, जिसकी वजह से खून को पंप करना दिल के लिए मुश्किल हो जाता है। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के पीछे आपका लाइफस्टाइल, डाइट और फिटनेस लेवल जिम्मेदार होता है।

मिथः दवा लेना बिल्कुल सेफ

सच्चाईः अगर आप ये सोचते हैं कि आप बीपी और कोलेस्ट्रल को कम करने वाली दवा रोजाना ले रहे हैं तो आप 100 फीसदी सुरक्षित है तो ये आपकी गलतफहमी है। दरअसल आपकी दवा लिवर में कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को नियंत्रित करती है और टोटल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करती है, जिससे खतरा कम होता है लेकिन जब आप फैटी फूड्स का नियंत्रित सेवन करते हैं तो फिर दवा का कुछ खास फायदा नहीं होता है।

Also Read

More News

मिथः सिर्फ उबला हुआ खाएं

सच्चाईः ऐसा कहा जाता है कि अगर आपको दिल से जुड़ी कोई समस्या है तो आपको उबला हुआ खाना ही खाना चाहिए और तेल, मसाले के साथ नमक की मात्रा कम कर देनी चाहिए। लेकिन जरूरी नहीं कि आप उबला हुआ खाना ही खाएं। बस आपको दिल की बीमारी का शिकार होने पर सैच्यूरेटेड फैट के साथ-साथ हाइड्रोजन फैट का सेवन कम कर देना चाहिए।

मिथः हल्का हार्ट अटैक गंभीर नहीं

सच्चाईः हार्ट अटैक कैसा भी हो ये गंभीर ही होता है। हार्ट अटैक की सही तरीके से देखभाल सिर्फ और सिर्फ चिकित्सीय सलाह से ही ठीक की जा सकती है। हल्का हार्ट अटैक भले ही आपकी नजरों में न आए लेकिन अगर आप इसे नजरअंदाज करते हैं तो ये आगे चलकर आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है।

मिथः डायबिटीज की दवा आएगी काम

सच्चाईः डायबिटीज और दिल से जुड़ी बीमारी एक-दूसरे के पर्याय हैं। डायबिटीज के अलावा हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, गतिहीन जीवनशैली और धूम्रपान ये सभी मिलकर आपके स्वास्थ्य को बिगाड़ने का काम करते हैं। ये सही है कि डायबिटीज की दवा आपके ब्लड शुगर को कंट्रोल करती है और ह्रदय रोग के खतरे को कम करती है लेकिन पूरी तरह से नहीं।