• हिंदी

किन लोगों को नहीं खाना चाहिए पत्तागोभी की सब्जी?

किन लोगों को नहीं खाना चाहिए पत्तागोभी की सब्जी?

बिना सोचे समझे खा रहे हैं पत्तागोभी तो हो जाएं सावधान, क्योंकि यह सभी के लिए फायदेमंद नहीं हो सकते हैं.

Written by Atul Modi |Published : December 6, 2023 3:57 PM IST

सर्दियां शुरू हो चुकी हैं और इस सीजन में सबसे ज्यादा खाई जाने वाली सब्जियों में से एक है पत्तागोभी। फाइबर, फोलेट, कैल्शियम, पोटेशियम और विटामिन ए, सी और कई अन्य पोषक तत्वों से भरी पत्तागोभी खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। इसमें मौजूद फाइटोन्यूट्रिएंट्स कैंसर के खतरों को भी कम करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं ज्यादा पत्तागोभी खाना सेहत के लिए काफी नुकसानदायक भी हो सकता है। इससे कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। तो चलिए जानते हैं आखिर क्या हैं ज्यादा पत्तागोभी खाने के नुकसान।

हो सकती है गैस की समस्या

ज्यादा पत्तागोभी खाने के सबसे बड़े दुष्प्रभावों में से एक है गैस बनना। जी हां, पत्तागोभी में रेफिनोज नामक तत्व काफी मात्रा में होता है। रेफिनोज एक प्रकार का जटिल कार्बोहाइड्रेट है। यह पच नहीं पाता और यह आपकी आंतों से गुजरता है। यही कारण है ज्यादा पत्तागोभी खाने से पेट फूलने लगता है। कई बार अत्यधिक गैस बनना या फिर डकार आने की समस्या आपको हो सकती है।

दस्त का कारण बन सकती है पत्तागोभी

मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट के अनुसार, पत्तागोभी के एक कप में करीब 5.8 ग्राम फाइबर होता है। विशेषज्ञों के अनुसार पत्तागोभी में अघुलनशील फाइबर भी मौजूद होते हैं, जिससे शरीर के पाचन तंत्र में अपशिष्ट पदार्थों की गति बढ़ जाती है। यही कारण है ज्यादा पत्तागोभी खाने से दस्त की शिकायत हो सकती है। कई बार इसके कारण आंतों में भी समस्या हो सकती है। यही कारण है केि जो कैंसर पेशेंट कीमोथेरेपी लेते हैं, ​उन्हें डॉक्टर की सलाह के बाद ही पत्तागोभी खानी चाहिए।

Also Read

More News

इस स्थि​ति से रहें सावधान

पत्तागोभी में उच्च मात्रा में विटामिन 'के' मौजूद होता है। विटामिन 'के' आपके रक्त के थक्के जमने में मदद करता है। बहुत अधिक पत्तागोभी खाने से संभावित रूप से रक्त पतला करने वाली दवाओं में बाधा आ सकती है। ऐसे में इस बात का ध्यान रखें कि आप कितनी मात्रा में पत्तागोभी खा रहे हैं। अगर आप रक्त पतला करने वाली दवा ले रहे हैं तो अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही पत्तागोभी का सेवन करें। मैरीलैंड मेडिकल सेंटर यूनिवर्सिटी के अनुसार, विटामिन 'के' की दैनिक मात्रा पुरुषों के लिए 120 माइक्रोग्राम और महिलाओं के लिए 90 माइक्रोग्राम है।

हाइपोथायरायडिज्म का खतरा

बहुत कम लोग जानते हैं कि पत्तागोभी का ज्यादा सेवन शरीर में थायराइड के स्तर को प्रभावित कर सकता है। कई स्थितियों में तो यह हाइपोथायरायडिज्म का कारण बन सकता है। दरअसल, पत्ता गोभी में नाइट्रोजन और सल्फर युक्त ग्लूकोसाइनोलेट्स यौगिक प्रचुर मात्रा में होते हैं। इन यौगिकों के साथ रासायनिक प्रतिक्रिया थायराइड हार्मोन के उत्पादन में बाधा डाल सकती हैं। अगर आप में आयोडीन की कमी है तो समस्या और भी बढ़ सकती है।

लो ब्लड शुगर की समस्या

डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए पत्तागोभी काफी लाभकारी है, क्योंकि यह ब्लड ग्लूकोज को कंट्रोल करता है। लेकिन इसके अत्यधिक सेवन से यह गुण खतरनाक भी बन सकता है, क्योंकि इससे लो ब्लड शुगर की शिकायत हो सकती है। पत्तागोभी के अधिक सेवन से हाइपोग्लाइसीमिया यानी ब्लड शुगर का स्तर काफी कम होने का खतरा रहता है। ऐसे में पत्तागोभी को हमेशा अन्य सब्जियों के साथ मिलाकर खाना फायदेमंद रहता है।