Sign In
  • हिंदी

देसी वाइट बटर खाने से दूर रहती हैं ये 5 बीमारियां, जानिए इसके फायदे

देशी मक्खन खाने के हैं अनेक फायदे, दूर रहती हैं कई बीमारियां। ©Shutterstock.

देशी वाइट बटर अर्थात दही से निकाला जाने वाला मक्खन जो देशी मक्खन के नाम से भी जाना जाता है। देशी मक्खन खाने का प्रचलन वर्तमान समय में बहुत कम हो गया है क्योंकि इसकी उपलब्धता तो कम हुयी है साथ में लोगों के खाने का तौर तरीका भी बदला है। 

Written by akhilesh dwivedi |Updated : February 9, 2019 2:48 PM IST

देशी वाइट बटर अर्थात दही से निकाला जाने वाला मक्खन जो देशी मक्खन के नाम से भी जाना जाता है। देशी मक्खन खाने का प्रचलन वर्तमान समय में बहुत कम हो गया है क्योंकि इसकी उपलब्धता तो कम हुयी है साथ में लोगों के खाने का तौर तरीका भी बदला है।

वाइट बटर में बाजार में मिलने वाले बटर से बहुत ही अच्छा होता है। देशी मक्खन में नमक भी नहीं मिलाया जाता आप अपने खाने के नमक के साथ इसका सेवन कर सकते हैं। वाइट बटर के सेवन से कई तरह की बीमारियों की संभावना भी कम हो जाती है। आइए जानते हैं सफेद मक्खन खाने से कौन-कौन सी बीमारी रहती है दूर

हार्ट अटैक 

Also Read

More News

मेडि‌कल रिसर्च काउंसिल के एक शोध में यह बात सामने आई है कि जो लोग कुछ मात्रा में बटर को अपनी डाइड में शामिल करते हैं, उन्हें दिल की बीमारी का खतरा, अपेक्षाकृत कम होता है। मात्र 2 एक्सरसाइज हार्ट अटैक के खतरे को 80 प्रतिशत कम देती हैं।

बुखार

गाय के दूध का बटर और खड़ी शर्करा का सेवन करने से पुराना बुखार विल्कुल ठीक हो जाता है, इसके अलावा मक्खन के साथ शहद और सोने के वर्क को मिलाकर खाने से टीबी के मरीजों को बहुत ही लाभ मिलता है।

कैंसर

जी हां, वाइट बटर कोई भी मामूली चीज नहीं है। यह कैंसर जैसे रोग से बचाव करने में आपकी बहुत मदद करता है। दरअसल वाइट बटर में मौजूद फैटी एसिड कौंजुलेटेड लिनोलेक प्रमुख रूप से कैंसर से बचाव में बहुत मदद करता है। भूलने की बीमारी रहेगी दूर रोजाना करना होगा सिर्फ एक काम।

आंखों में जलन

आंखों में जलन की समस्या होने पर गाय के दूध का बटर आंखों पर लगाना बहुत ही फायदेमंद होता है। किसी भी कारण से आंखों में होने वाली जलन को यह समाप्त कर देता है। 5 योग जो डायबिटीज की परेशानी दूर कर सकते हैं।

दमा

सांस की तकलीफ होने पर भी मक्खन लाभदायक साबित होता है। मक्खन में मौजूद सैचुरेटेड फैट्स फेफड़ों की मदद करते हैं और दमा के मरीजों के लिए भी इसका सेवन फायदेमंद माना जाता है। क्या विटामिन-ई के सेवन से हार्ट अटैक का खतरा कम होता है ?

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on