Advertisement

टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए, खाएं लो कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन

टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। इनमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम होती है। गोभी, पालक, पत्‍ता गोभी का सेवन करने से डायबिटीज नियंत्रित रहता है।

टाइप 2 डायबिटीज किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकता है। टाइप 2 डायबिटीज सामान्यतः इंसुलिन प्रतिरोध से आरम्भ होता है। यह ऐसी स्थिति है जिसमें मांसपेशियां, लीवर और वसा कोशिकाएं ठीक तरह से इंसुलिन का उपयोग नहीं करतीं। इसके कारण शरीर को ग्लूकोज को ऊर्जा में बदलने के लिए ज्यादा इंसुलिन की आवश्यकता पड़ती है। उचित देखभाल और खान-पान से टाइप 2 डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है। कार्बोहाइड्रेट कम ही खाएं, दोबारा हो सकता है कैंसर

खाएं लो कार्बोहाइड्रेट युक्त खाना

यदि आप टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित हैं, तो इसे नियंत्रित करने के लिए लो कार्बोहाइड्रेट डायट लेना शुरू कर दें। कार्बोहाइड्रेट शरीर को ग्‍लूकोज के रूप में ऊर्जा प्रदान करता है। कार्बोहाइड्रेट दो तरह के होते हैं- सरल और जटिल। इसमें कार्बन, हाइड्रोजन, ऑक्सीजन के यौगिक होते हैं। सरल कार्बोहाइड्रेट में ग्‍लूकोज, सुक्रोज और फ्रक्‍टोज जैसे शुगर का स्रोत पाया जाता है। गन्ना, चुकंदर, खजूर, अंगूर इनके प्रमुख स्रोत हैं। जटिल कार्बोहाइड्रेट के रूप में स्टार्च प्रमुख भोज्य पदार्थ हैं जो आलू, साबूदाना, चावल, अरवी, मक्का आदि में पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। कार्बोहाइड्रेट तुरंत ब्‍लड शुगर पर प्रभाव डालते हैं जिसके कारण पाचन क्रिया के दौरान खून में रक्‍त शर्करा का प्रभाव तुरंत होता है। अधिक जीना चाहते हैं तो डायट में कार्बोहाइड्रेट कम करें शामिल, जानें इसके फायदे और नुकसान

Also Read

More News

हरी सब्जियां

टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल में रखने के लिए पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। इनमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम होती है। गोभी, पालक, पत्‍ता गोभी का सेवन करने से डायबिटीज नियंत्रित रहता है। ब्रोकोली, एस्‍परेगस, अजवाइन, फूलगोभी, खीरा, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, टमाटर, बैंगन में भी कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। आलू और गाजर में अधिक कार्बोहाइड्रेट होने से डायबिटीक पेशेंट को इन्‍हें खाने से बचना चाहिए।  वजन कम करने के लिए खूब खाएं कार्बोहाइड्रेट से भरपूर चीजें

[caption id="attachment_633929" align="alignnone" width="655"]low carb diet to control type 2 diabetes 1 कम वसायुक्‍त मांस जैसे- मुर्गा, मछली, झींगा जैसे समुद्री जीवों में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। © Shutterstock.[/caption]

मांस और मेवे

कम वसायुक्‍त मांस जैसे- मुर्गा, मछली, सार्डिन, झींगा, केकड़े जैसे समुद्री जीवों में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। अंकुरित अनाज, लहसुन, प्याज, अजवायन की पत्ती, तुलसी और मशरूम आदि लो कार्बोहाइड्रेट फूड हैं। यह ब्‍लड में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखते हैं। सूखे मेवे जैसे अखरोट, मूंगफली, काजू, सूरजमुखी के बीज, कद्दू के बीज भी टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद हैं क्योंकि इनमें भी कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा कम होते हैं। डायबिटीज का मुकाबला करना है तो करें कैल्शियम का सेवन

फल और डेयरी प्रोडक्‍ट्स

ब्लूबेरी, सेब, चेरी, स्ट्रॉबेरी, संतरे, अनानास, अंगूर और आड़ू आदि में लो कार्बोहाइड्रेट होता है। डायबिटीज के मरीज नींबू तथा अन्य खट्टे फल भी खा सकते हैं। डेयरी प्रोडक्‍ट दूध, दही, पनीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है इसलिए टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को दुग्‍ध उत्‍पादों का सेवन करना चाहिए।

नियमित करेंगे ये 5 आसन, तो डायबिटीज रहेगा कंट्रोल में

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on