Sign In
  • हिंदी

आंत हेल्थ और डायबिटीज में सीधा संबंध, जानें बचने के उपाय

आंत और टाइप 2 डायबिटीज में संबंध है, जानें मधुमेह से कैसे बचें. ©pixabay

आंत का और ब्लड शुगर लेवल का संबंध कुछ ऐसे है कि जो भी आप मीठे पदार्थ खाते हैं वह आपके आंत के माइक्रोबायोम पर सीधा प्रभाव डालते हैं। आंत का जब माइक्रोबायोब बदलता है तो उसकी पाचन क्षमता प्रभावित होती है।

Written by akhilesh dwivedi |Updated : September 9, 2019 6:31 PM IST

डायबिटीज की बीमारी आंत (Gut Health and Diabetes) से संबंध रखती है. आंत (Gut) का प्रभाव इंसान के पूरे स्वास्थ्य पर पड़ता है इसके बारे में तो आप जानते ही हैं। आंत की सफाई अगर ठीक से नहीं होती है तो वह कई बीमारियों का कारण बनती है। हाल ही में हुए एक शोध में पाया गया है कि आंत अगर ठीक से काम नहीं करती है तो टाइप 2 डायबिटीज (Type-2-Diabetes)  होने का खतरा बढ़ जाता है। हम अक्सर आंत की सफाई के बारे में पढ़ते रहते हैं लेकिन क्या हम जानते हैं कि आंत की सफाई ठीक से न होने की वजह से टाइप 2 डायबिटीज होती है। आइए जानते हैं आंत हेल्द और डायबिटीज (Gut Health and Diabetes) के बारे में कुछ खास बातें.

हम जो कुछ भी खाते हैं वह हमारी आंत में जाता है और पचता है। वैसे तो यह बात सभी जानते हैं कि हम अपनी डाइट में जितनी ज्यादा मात्रा में चीनी या शुगर का सेवन करते हैं उतना ही टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा बढ़ता है।

आंत और ब्लड शुगर का क्या संबंध है ?

Also Read

More News

relationship between Gut and type 2 diabetes know how to avoid diabetes

आंत का और ब्लड शुगर लेवल का संबंध कुछ ऐसे है कि जो भी आप मीठे पदार्थ खाते हैं वह आपके आंत के माइक्रोबायोम पर सीधा प्रभाव डालते हैं। आंत का जब माइक्रोबायोब बदलता है तो उसकी पाचन क्षमता प्रभावित होती है।

टाइप 2 डायबिटीज और सफेद चावल का क्या सम्बंध है ?

आप इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि अगर आपकी आंत हेल्दी रहती है तो आपका ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहता है। अगर आप ज्यादा मीठा वाले खाद्य पदार्थ खाते हैं तो माइक्रोबायोम प्रभावित होता है और पाचन खराब होने के साथ ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है। ब्लड शुगर लेवन बढ़ने के कारण टाइप 2 डायबिटीज (Diabetes mellitus) के शिकार हो जाते हैं।

माइक्रोबायोम क्या है ?

माइक्रोबायोम को सरल भाषा में समझे तो यह शरीर में पाये जाने वाले बहुत ही सुक्ष्म जीवों का संग्रह है। इंसान की शरीर में हर जगह ये बेहद छोटे-छोटे जीवाणु मौजूद हैं। आंत में पाये जाने वाले माइक्रोबायोम का जो बैलेंस है वह इंसान के खान-पान में संतुलन न होने की वजह से खराब हो जाता है।

आंत के हेल्थ और ब्लड शुगर को ठीक रखने के लिए क्या करें

आंत की सफाई के बारे में आप अक्सर पढ़ते रहते हैं लेकिन आंत को हेल्दी रखने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं है। आंत को हेल्दी रखने और माइक्रोबायोम को बनाए रखने के लिए आपको सिर्फ कम शर्करा या लो-कार्ब वाली डाइट लेना है।

4 तरीके जो कंट्रोल कर सकते हैं टाइप 2 डायबिटीज।

जो लोग आंत की किसी भी परेशानी से गुजर रहे हैं उनमें डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है। आंत को हेल्दी रखने के लिए आप कीटोजेनिक डाइट को भी अपना सकते हैं।

जैसा की आप जानते हैं सभी रोग आंत से ही शुरू होते हैं तो अपनी आंत को हेल्दी रखने के लिए हेल्दी डाइट लें। कम से कम चीनी या शर्करा वाले खाद्य पदार्थ आपके आंत को हेल्दी तो रखते ही हैं साथ में आपको टाइप 2 डायबिटीज से भी दूर रखते हैं।

टाइप 2 डायबिटीज और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में विटामिन सी कैसे करता है मदद।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on