Sign In
  • हिंदी

सर्दियों में सर्दी-खांसी और फ्लू से रहना है दूर तो फॉलो करें ये 6 टिप्स, बूस्ट होगी इम्यूनिटी

सर्दी-जुकाम और एलर्जी में आयुर्वेदिक सिरप फायदेमंद है।

हालांकि हममें से कोई भी अपने घर के हर कमरे की हवा को साफ नहीं कर सकता है और न ही प्रदूषित हवा को घर में आने से रोक सकता है इसलिए ये जरूरी हो जाता है कि अपनी डाइट और जीवनशैली में कुछ ऐसे बदलाव किए जाएं, जो वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव को कम करने में आपकी मदद कर सकें।

Written by Jitendra Gupta |Published : November 17, 2020 11:22 AM IST

प्रदूषण का बढ़ता लेवल अपने साथ सर्दी, खांसी, फ्लू और बुखार लेकर आता है और लोगों में इसके लक्षण दिखाई भी देने लगे हैं। ये लक्षण ड्राई आई, बहती नाक, गले में खराश, सिरदर्द जैसे अन्य आम लक्षणों में शामिल हैं। इन सबसे बचने के लिए लोग अपने घरों में एयर प्यूरिफायर लगाने के साथ-साथ मास्क पहनने और घर से बाहर न सोने जैसी कुछ चीजें ऐसी हैं, जो हम खुद को प्रदूषण से बचाने के लिए बड़ी आसानी से कर सकते हैं।

हालांकि हममें से कोई भी अपने घर के हर कमरे की हवा को साफ नहीं कर सकता है और न ही प्रदूषित हवा को घर में आने से रोक सकता है इसलिए ये जरूरी हो जाता है कि अपनी डाइट और जीवनशैली में कुछ ऐसे बदलाव किए जाएं, जो वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव को कम करने में आपकी मदद कर सकें। इस लेख में हम आपको ऐसे घरेलू उपचार के बारे में बता रहे हैं, जो आपके श्वसन मार्ग को साफ करेंगे और आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट करेंगे।

गन्ने का रस

गन्ने का रस बाजार में आसानी से उपलब्ध होता है। अगर आपको जूस पसंद नहीं है, तो आप कच्चा गन्ना भी चबा सकते हैं। यह आपके लिवर को साफ और डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है और आपकी इम्यूनिटी को बूस्ट करने का काम करता है। इतना ही नहीं यह सुस्ती को भी कम करने में मदद करता है और आपकी मनोदशा को बेहतर बनाता है। अगर आप अपने सुबह और दोपहर के भोजन के बीच इसका सेवन करते हैं तो ये आपके लिए सबसे अच्छा हो सकता है।

Also Read

More News

हल्दी वाला दूध

हल्दी वाला दूध वायु प्रदूषण के दुष्प्रभावों से लड़ने के लिए सबसे आसान और अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है। हल्दी दूध बनाने के लिए, बस एक गिलास दूध में 1/4 चम्मच हल्दी पाउडर मिलाएं और इसे उबाल लें। इस पेय को सिर्फ गुनगुना कर ही सेवन करें। इस पेय के स्वाद और स्वास्थ्य लाभ बढ़ाने के लिए आप इसमें कुछ केसर और गुड़ भी मिला सकते हैं। हल्दी को उसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है और ये खांसी, ठंड और फ्लू के दौरान रिकवरी को तेज करने में आपकी मदद करता है।

शारीरिक रूप से रहें सक्रिय

क्या आप हवा की खराब गुणवत्ता के कारण रोजाना की अपनी वॉक को छोड़ रहे हैं? यह आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छी बात नहीं है। अगर आप टहलने नहीं जा सकते हैं, तो घर पर ही कुछ हल्की एक्सरसाइज करें। आप बालकनी या छत पर या फिर अपने घर के अंदर भी चल सकते हैं।

अपने आप को हाइड्रेटेड रखें

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पानी हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। अपने आप को हाइड्रेटेड रखना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यह बीमारियों को रोकने और रिकवरी को तेज करने में मदद करता है।

घी खाएं

देसी घी की एक बूंद सुबह और शाम अपनी नाक में डालें, जिससे प्रदूषकों को दूर रखने में मदद मिल सकती है। अपनी डेली डाइट में दो से तीन चम्मच घी शामिल कर आप फिट रह सकते हैं। ऐसा करने से हवा में मौजूद विषाक्त प्रभावों को कवर करने में मदद मिलती है और गंदगी आपकी हड्डियों, लिवर और गुर्दे में जमा नहीं होती हैं।

गुड़ खाएं

गुड़ में इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह आयरन से भरपूर होता है। यह आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने, हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। यह सब प्रदूषण के तीव्र प्रभावों को कम करने में मदद कर सकता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on