• हिंदी

फैटी लिवर की समस्या होने पर पिएं इन 5 सब्जियों के जूस, धीरे-धीरे लिवर में होने लगेगा सुधार

फैटी लिवर की समस्या होने पर पिएं इन 5 सब्जियों के जूस, धीरे-धीरे लिवर में होने लगेगा सुधार

अगर आपको भी फैटी लिवर की समस्या है, तो आपको भी अपने डॉक्टर से सलाह लेकर सब्जियों का जूस का डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

Written by Atul Modi |Published : September 27, 2023 6:54 AM IST

फैटी लिवर एक बहुत गंभीर स्थिति है। यह स्थिति तब पैदा होती है जब लिवर में फैट की मात्रा अधिक बढ़ जाती है। यह हमारे लिवर फंक्शन को प्रभावित करता है और लिवर अपना काम ठीक से नहीं करता है। लेकिन स्वस्थ शरीर के लिए लिवर फंक्शन ठीक होना बहुत जरूरी है। अगर हमारा लिवर ठीक से काम नहीं करता है, तो इसके कारण शरीर में कई रोग पैदा हो सकते हैं। असल में लिवर हमारे शरीर में कई कार्यों की पूर्ति में बहुत अहम भूमिका निभाता है। यह शरीर से हानिकारक कण जैसे फ्री-रेडिकल्स और टॉक्सिन्स को नष्ट करने में मदद करता है। साथ ही, यह भोजन के बेहतर पाचन के लिए बाइल जूस के साथ ही कई अन्य एंजाइम के उत्पादन में भी योगदान देता है। इसके अलावा, लिवर शरीर में कई हार्मोन्स को रेगुलेट करने में भूमिका निभाता है। लेकिन हमारा खराब खानपान, जीवनशैली की खराब आदतों और गतिहीन जीवनशैली के कारण शरीर में चर्बी बढ़ने लगती है। जब यह चर्बी हमारे लिवर में जमा होने लगती है, तो इससे फैटी लिवर की समस्या हो जाती है।

अच्छी बात यह है कि अच्छी डाइट, हेल्दी लाइफस्टाइल और जीवनशैली की आदतों में बदलाव करके आप आसानी से फैटी लिवर की समस्या को रिवर्स यानी ठीक कर सकते हैं। इसके अलावा, डाइट में कुछ सब्जियों का जूस शामिल करने से भी आपको फैटी लिवर को जल्दी ठीक करने में मदद मिल सकती है। सब्जियों के जूस में कैलोरी और फैट की मात्रा कम होती है। साथ ही, इनमें शरीर के लिए कई पोषक तत्व और औषधीय गुण भी मौजूद होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद होते हैं। इस लेख मेंं हम आपको ऐसे 5 सब्जियों के जूस बता रहे हैं, जो आपके लिवर को क्रियाशील बनाने के साथ ही फैटी लिवर को रिवर्स करने में मदद करेंगे।

फैटी लिवर को रिवर्स करने के लिए सब्जियों के जूस - Vegetable Juices For Fatty Liver In Hindi

पालक का जूस (Spinach Juice)

पालक कई जरूरी पोषक तत्वों का पावर हाउस है। हालांकि हमेशा यह सलाह दी जाती है, कि आपको पालक को हमेशा थोड़ा पानी में पकाने के बाद भी इसका सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसमें कुछ एंटी-न्यूट्रिएंट्स भी होते हैं। इसलिए इसका जूस बनाते समय कोशिश करें कि आप पाल को पानी में थोड़ी देर उबाल लें। उसके बाद ठंडा करके इसका जूस बनाएं। इसमें ग्लूटाथियोन नामक एंटीऑक्सीडेंट लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

Also Read

More News

जलकुंभी का जूस (Jalkumbhi Juice)

आमतौर पर इस पत्तेदार सब्जी का सेवन लोग सलाद के रूप में करते हैं। इसमें विटामिन ए, सी, कैल्शियम और आयरन आदि जैसे जरूरी पोषक तत्व बहुत अच्छी मात्रा में होते हैं। इनमें एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं, जो शरीर को डिटॉक्स और लिवर को स्वस्थ रखने में कई तरह से मदद करते हैं।

चुकंदर का जूस (Beetroot Juice)

चुकंदर का जूस एक नेचुरल डिटॉक्स ड्रिंक है। इसमें कई जरूरी विटामिन और मिनरल्स भरपूर मात्रा में होते हैं। यह लिवर के साथ ही किडनी पर पड़ने वाले दबाव को कम और उन्हें डिटॉक्स करने में मदद करता है। शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर चुकंदर का जूस फ्री-रेडिकल्स को बेअसर करने में भी मदद करता है।

लौकी का जूस (Bottle Gourd Juice)

लौकी के जूस में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जिससे यह लिवर की सूजन कम और फंक्शन में सुधार करने में बहुत लाभकारी है। यह शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स और फ्री-रेडिकल्स को भी नष्ट करता है, जो फैटी लिवर में योगदान देते हैं। लेकिन ध्यान रखें इसका सेवन आपको 50ml से अधिक नहीं करना चाहिए।

गाजर का जूस (Carrot Juice)

गाजर का जूस कई स्वास्थ्य लाभों से भरपूर होता है। इसमें मौजूद बीटा-कैरोटीन कंपाउंड शरीर में विटामिन ए में बदलकर लिवर को स्वस्थ रखने में मदद करता है। जिन लोगों को लिवर से जुड़ी समस्याएं रहती हैं, उन्हें अक्सर यह सलाह दी जाती है कि उन्हें रोज गाजर का जूस जरूर पीना चाहिए। यह फ्री-रेडिकल्स के कारण शरीर और लिवर की कोशिकाओं को नुकसान से बचाता है।