Sign In
  • हिंदी

हेल्दी आंत (GUT) के लिए 4 बेहतरीन फूड

हम में से ज्यादातर लोग प्रोबायोटिक को जानते ही हैं लेकिन बहुत कम लोग प्रीबायोटिक के बारे में जानते हैं। जबकि प्रीबायोटिक हेल्दी आंत के लिए सबसे जरूरी होते हैं।

Written by akhilesh dwivedi |Updated : February 16, 2019 1:11 PM IST

हेल्दी आंत के लिए हमारे खान-पान का हेल्दी होना ही जरूरी नहीं है उसके लिए हेल्दी प्रीबायोटिक फूड की जरूरत ज्यादा होती है। हम में से ज्यादातर लोग प्रोबायोटिक को जानते ही हैं लेकिन बहुत कम लोग प्रीबायोटिक के बारे में जानते हैं। जबकि प्रीबायोटिक हेल्दी आंत के लिए सबसे जरूरी होते हैं।

हेल्दी लिवर के लिए 4 बेहतरीन फूड।

प्रीबायोटिक्स डायट बेहतरीन फाइबर होते हैं जो आंत में लाभदायक सूक्ष्मजीवों को बढ़ावा देते हैं। यह आंत को सही से काम करने के लिए मजबूत बनाते हैं। अगर हम सीधे शब्दों में कहें तो प्रीबायोटिक्स अच्छे बैक्टीरिया के लिए फूड होते हैं जो अच्छे बैक्टीरिया को शरीर में बढ़ाने का काम करते हैं।

Also Read

More News

हेल्दी लंग्स के लिए 5 बेहतरीन फूड।

हेल्दी बैक्टीरिया को बढ़ाने के लिए प्रीबायोटिक्स की जरूरत होती है। यह शरीर के पाचनतंत्र को बेहतर बनाता है। इसका सेवन शरीर में लाभदायक विटामिन के उत्पादन में वृद्धी करता है। यह रोग पैदा करने वाले रोगाणुओं को भी कम करता है तथा खाने को पचने में मदद करता है। खाली पेट कभी न खाएं ये 6 फल, हेल्थ के लिए हैं खतरनाक।

Healthy-food-for-gut

लहसुन

आंत में प्रीबायोटिक्स का लेवल बढ़ाने के लिए लहसुन सबसे अच्छा स्रोत माना जाता है। इसके उपयोग से आंत में प्रीबायोटिक्स का लेवल बढ़ने के साथ-साथ अच्छे बैक्टीरिया की संख्या में भी इजाफा होता है। ये दोनों कारक मिलकर एक हेल्दी आंत बनाते हैं।

ये 4 मिनरल्स वाले खाद्य पदार्थ आपको रखते हैं हमेशा फिट व बीमारी से दूर।

प्याज

प्याज में भी प्रीबायोटिक्स के तत्व पाये जाते हैं। इसका सेवन बेहतर पाचन के लिए जाना जाता है। प्याज का रोजाना उपयोग हेल्दी आंत के लिए आवश्यक है। प्याज में शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता का कारण भी यही है कि इसमें प्रीबायोटिक्स का गुण पाया जाता है।

शारीरिक निष्कियता आपको बीमारी देने के साथ विकलांग भी बना सकती है, जानें एक्सपर्ट्स के सुझाव।

सेब

एक सेब रोजाना खाने से आप डॉक्टर के पास जानें से बच सकते हैं यह कहावत तो आप सब जानते हैं। लेकिन इसके पीछे का कारण क्या है इसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। सेब में प्रीबायोटिक लेवन बढ़ाने का गुण पाया जाता है जो आंत में इसकी मदद करता है। बेहतर पाचन से ही शरीर मजबूत रहता है इसीलिए एक सेब का सेवन आपको डॉक्टर के पास जाने से बचाता है।

3 तरीके जो आपको 2 महीने में पेट की चर्बी से छुटकारा दिला सकते हैं।

केला 

पके केले की अपेक्षा कच्चे केले में प्रीबायोटिक की क्षमता ज्यादा होती है। अगर कच्चे केले का रोजाना उपयोग किया जाय तो यह बेहतर पाचन के अलावा आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बनने में मदद करता है। अच्छे बैक्टीरिया का बनना शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और इंसान को हेल्दी आंत के साथ हेल्दी शरीर भी देता है।

बॉडी को डिटॉक्स करके मोटापा कम करती हैं ये 2 ग्रीन स्मूदी।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on