• हिंदी

पुरानी से पुरानी डायबिटीज को काटता है तेजपत्ता, जानें कैसे करना है इस्तेमाल

पुरानी से पुरानी डायबिटीज को काटता है तेजपत्ता, जानें कैसे करना है इस्तेमाल
diabetes

लाइफस्टाइल और खानपान में बदलाव कर डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। लेकिन यदि आपका लाइफस्टाइल बहुत बिजी है और आप किसी भी चीज को नियमित रूप से नहीं कर पाते हैं तो तेजपत्ते से बेहतर आपके लिए कुछ नहीं है। तेजपत्ते की सही सेवन से पुरानी से पुरानी डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं डायबिटीज में किस तरह फायदेमंद है तेजपत्ता।

Written by Rashmi Upadhyay |Published : June 30, 2020 5:14 PM IST

गर्म मसाले के तौर पर भारतीय व्यंजनों में प्रयोग किया जाने वाला तेजपत्ता सेहत को कई तरह के लाभ देता है। यह खाने में खुशबू और फ्लेवर देने के साथ ही उसे सेहतमंद भी बनाता है। शायद आपको पता न हो कि तेजपत्ते में भारी मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट के साथ ही सेलेनियम, आयरन, कॉपर, पोटेशियम और कैल्शियम समेत कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। यह सभी तत्व डायबिटीज के रोगी के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। आज के समय में हमारे देश में करीब 90 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जो मधुमेह की चपेट में है। लाइफस्टाइल से जुड़ी यह बीमारी जब बिगड़ जाती है तो जान के लिए खतरा साबित होने लगती है। वैसे तो लाइफस्टाइल और खानपान में बदलाव कर डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। लेकिन यदि आपका लाइफस्टाइल बहुत बिजी है और आप किसी भी चीज को नियमित रूप से नहीं कर पाते हैं तो तेजपत्ते से बेहतर आपके लिए कुछ नहीं है। तेजपत्ते की सही सेवन से पुरानी से पुरानी डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं डायबिटीज में किस तरह फायदेमंद है तेजपत्ता।

Also read : डायबिटीज से बचना है, तो नियमित रूप से करें इन बातों को फॉलो

डायबिटीज के लिए तेजपत्ता

कई शोधों में यह साफ हो चुका है कि सही लाइफस्टाइल से डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है। अगर डायबिटीज में तेजपत्ते के लाभ की बात करें तो यह रोगियों के इंसुलिन फ़ंक्शन में सुधार लाता है। जर्नल ऑफ बायोकेमिकल न्यूट्रीशन में छपे एक आर्टिकल में कहा गया था कि एक प्रयोग में पता चला कि जिन टाइप 2 डायबिटीज रोगियों के ब्लड में शुगर लेवल अधिक था, तेजपत्ते के सेवन से वह काफी हद तक सामान्य हुआ साथ इससे कोलेस्‍ट्रॉल भी सामान्य होता है।

Also Read

More News

कैसे करें तेजपत्ते का सेवन?

आमतौर पर तेजपत्ते को खाने में डालकर इस्तेमाल में लिया जाता है। इससे तेजपत्ते की खुशबू तो खाने में फैलती ही है साथ ही तेजपत्ते में मौजूद पोषक तत्व भी पूरे खाने में मिल जाते हैं। यानि कि डायबिटीज के रोगी अपने खाने में तेजपत्ता डालकर सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा एक तरीका और है। रात में एक पत्ते को एक कटोरी में भिगाएं और सुबह उठकर इसका पानी पी लें। कुछ दिनों तक ऐसा करने से ही आपका डायबिटीज सामान्य हो जाएगा।

Also read : डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए डेली डाइट चार्ट

तेज पत्ते के अन्य लाभ

1. तेज पत्ते के नियमित सेवन से पेट से संबंधित बीमारियां भी दूर होती है। क्योंकि तेज पत्ता पाचन क्रिया को आसान बनाता है जिससे पेट में दर्द, कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी परेशानियां दूर होती हैं।

2. जिन लोगों को किडनी स्टोन की दिक्कत होती है उनके लिए भी तेजपत्ता वरदान साबित होता है। ऐसे लोगों को तेज पत्ते को पानी में उबालकर और फिर इसे ठंडा कर इसका पानी पीना चाहिए।

3. नींद की समस्या में भी तेजपत्ता बहुत कारगार है। अगर रात में आपकी नींद टूटती है या बिस्तर पर लेटने के बाद भी घंटो तक नींद नहीं आती है तो आप तेजपत्ते के तेल की कुछ बूंदों को पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

4. तेजपत्ते के तेल से शरीर की मालिश करने से बदन दर्द दूर होता है। यह जोड़ों के दर्द को भी कम करता है।