Advertisement

डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण, कारण और उपचार, मेजर डिप्रेशन से बाहर कैसे निकलें ?

डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण अगर समझ आ जाएं तो डिप्रेशन का इलाज आसान होता है। डिप्रेशन के शिकार इंसान को समझ में ही नहीं आता है कि वो क्या कर रहा है। डिप्रेशन या अवसाद तीन तरह का होता है। कुछ लोगों में माइल्ड डिप्रेशन होता है है तो कुछ लोगों को मॉडरेट डप्रेशन की समस्या होती है। मेजर डिप्रेशन की समस्या सबसे खतरनाक मानी जाती है।

डिप्रेशन की बीमारी या परेशानी इंसान की ज़िंदगी बर्बाद कर देती है। भारत जैसे देशों में अभी भी डिप्रेशन को लेकर कई तरह की परेशानियां हैं। कुछ लोगों को तो इसकी जानकारी ही नहीं होती है कि वो डिप्रेशन के शिकार हैं। डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण अगर समझ आ जाएं तो डिप्रेशन का इलाज आसान होता है। डिप्रेशन के शिकार इंसान को समझ में ही नहीं आता है कि वो क्या कर रहा है। डिप्रेशन या अवसाद तीन तरह का होता है। कुछ लोगों में माइल्ड डिप्रेशन होता है है तो कुछ लोगों को मॉडरेट डप्रेशन की समस्या होती है। मेजर डिप्रेशन ( Major depressive disorder symptoms) की समस्या सबसे खतरनाक मानी जाती है। डिप्रेशन की परेशानी क्या डिमेंशिया में बदल सकती है ?

माइल्ड डिप्रेशन क्या होता है ?

माइल्ड डिप्रेशन को बहुत ज्यादा खतरनाक नहीं माना जाता है। माइल्ड डिप्रेशन की समस्या से लगभग हर इंसान परेशान हो सकता है। प्यार में धोखा खाने लोगों में उदासी और भावुकता को भी माइल्ड डिप्रेशन ही माना जाता है। कभी-कभी माइल्ड डिप्रेशन की परेशानी कुछ घंटों तक ही रहती है तो कभी-कभी यह कुछ दिनों तक रह सकती है। माइल्ड डिप्रेशन का इलाज साइकोथेरपी या मेडिकल के बीना भी किया जा सकता है।

मॉडरेट डिप्रेशन क्या है ?

मॉडरेट डिप्रेशन की समस्या दो हफ्तों से ज्यादा हो सकती है। मॉडरेट डिप्रेशन की परेशानी से गुजरने वाले इंसान को भूख नहीं लगती उसके बर्ताव में अचानक बदलाव हो सकता है। मॉडरेट डिप्रेशन की समस्या को काउंसलिंग के द्वारा आसानी से ठीक किया जा सकता है। मॉडरेट डिप्रेशन का अगर ठीक से इलाज न किया जाय तो यह मेजर डिप्रेशन में बदल सकता है। क्या विटामिन बी के सेवन से डिप्रेशन की समस्या होती है दूर, जानें।

Also Read

More News

मेजर डिप्रेशन क्या होता है ?

What is major depression

मेजर डिप्रेशन ( Major depressive disorder) की परेशानी में इंसान भावनात्मक रूप से टू़टने लगता है। मेजर डिप्रेशन के शिकार इंसान के व्यवहार और खान-पान पर सीधा असर पड़ता है। मेजर डिप्रेशन की परेशानी में इंसान नींद की कमी का भी शिकार हो जाता है। अगर सही समय पर मेजर डिप्रेशन का इलाज न किया जाय तो इंसान आत्महत्या जैसे कदम भी उठा लेता है। मेजर डिप्रेशन की परेशानी में इंसान को ज्यादा ख्याल रखना होता है।

डिप्रेशन के मूल कारण

डिप्रेशन के कारण मुख्य कारणों सबसे प्रमुख कारण तो परिवार में पहले किसी को अगर डिप्रेशन की बीमारी रही है तो खतरा ज्यादा रहता है।

डिप्रेशन की दूसरा सबसे मूल कारण मस्तिष्क रसायन में कमी को माना जाता है। ब्रेन में कैमिकल्स का बैंलेस जब गड़बड़ होता है तो डिप्रेशन की समस्या बढ़ जाती है।

स्ट्रेस व डिप्रेशन में क्या खाएं और क्या न खाएं।

कुछ लोगों में किसी विशेष घटना का असर उनके दिमाग पर सीधे तौर पर इतना गहरा होता है कि लोग डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। किसी नजदीकी व्यक्ति की मौत, प्यार के रिश्ते का टूटना जैसे कारण सबसे प्रमुख होते हैं।

डिप्रेशन का इलाज या उपचार करने की बेहतर तरीका

डिप्रेशन से छुटकारा पाने के लिए दवाओं से ज्यादा समाज, परिवार और डॉक्टर का एक मिलाजुला प्रयास सबसे ज्यादा कारगर होता है। अगर आप डिप्रेशन का इलाज या उपचार चाहते हैं तो आपको इन पांच बातों का ध्यान देना होता है। डिप्रेश की समस्या से निजात पाने के लिए इन पांच बातों को समझना सबसे जरूरी है। पोस्टनेटल डिप्रेशन क्या है ? महिलाओं के लिए क्यों है खतरनाक।

डिप्रेशन से बाहर निकलने में लोगों कि भूमिका

डिप्रेशन के शुरुआती लक्षण को अगर आप समझ जाएं तो उस व्यक्ति को दोस्तों, रिश्तेदारों और समाज के बीच समय बिताना चाहिए। डिप्रेशन से परेशान इंसान लोगों से दूर भागता लेकिन उसके इलाज के लिए लोगों को उसे अपने पास रखने की कोशिश करनी चाहिए। डिप्रेशन का लक्षण अगर दिखने लगे तो उसे ज्यादा से ज्यादा समय अपने लोगों के साथ रहना चाहिए।

खुशी डिप्रेशन की दवा कैसे है ?

डिप्रेशन की दवा के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत की जरूरत नहीं है आपको खुश रहना है और अपने जीवन में आनंद का स्थान सुरक्षित रखें। रचनात्मक बातों से डिप्रेशन की परेशानी दूर होती है। क्या दवा से डिप्रेशन और शराब दोनों से मिल सकता है छुटकारा ?

काम का जुनून आपको डिप्रेशन से बचाता है

जुनून को डिप्रेशन की सबसे अच्छी दवा कहते हैं। अगर आपका कामकाज में मन नहीं लगता तो आप डिप्रेशन के शिकार आसानी से हो सकते हैं। अगर आपको अपने काम के प्रति जुनून रखते हैं तो आप डिप्रेशन से बचे रहते हैं।

फिजिकल फिटनेस और डिप्रेशन

एक्सपर्ट्स के अनुसार अगर इंसान फिजिकली फिट रहते हैं उनमें डिप्रेशन का खतरा कम होता है। अगर आप अपने आपको सक्रिय रखते हैं और रोजाना एक्सरसाइज करते हैं तो आप डिप्रेशन से बचे रहते हैं। जो लोग रोजाना एक्सरसाइज करते हैं उनमें खुशी वाले हार्मोन का निर्माण होता है और इससे इंसान का मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होता है। एरोबिक एक्सरसाइज से डिप्रेशन होता है दूर, जानें इसके खास फैक्ट्स।

मेडिटेशन और योग से डिप्रेशन का इलाज

डिप्रेशन की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए सबसे जरूरी काम शान्ति पाना होता है। डिप्रेशन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए मेडिटेशन सबसे कारगर उपायों में से एक माना जाता है। डिप्रेशन के इलाज के तौर पर योग भी बहुत कारगर होता है।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on