Sign In
  • हिंदी

काम-काज के तनाव से बचना है, तो अपनाएं सकारात्मक सोच, फॉलो करें एक्सपर्ट के टिप्स

काम-काज के तनाव से बचने के उपाय। © Shutterstock.

छुट्टियां हम सभी के लिए जरूरी है ताकि आप फ्रेश मूड से दोबारा काम पर वापस लौट सकें। सिर्फ काम से मतलब रखना भी सेहत के लिए अच्छी बात नहीं है। चार-पांच महीने के अंतराल में कहीं घूमने के लिए जाएं। इससे मानसिक तनाव दूर होगा। मन शांत और मूड फ्रेश होगा।  

Written by Anshumala |Published : April 22, 2019 3:01 PM IST

दिन भर के काम के बाद रात के खाने में मनपसंद चीजें नहीं दिखीं तो क्या आप झुंझला उठते हैं? क्या आसपास लोगों को देर तक फोन पर बात करते देख आपको गुस्सा आता है? मुमकिन है किसी ने आप से कहा हो कि आप गुस्सैल स्वभाव के हो गए हैं और शायद आप ने खुद भी अपने व्यक्तित्व में फर्क महसूस किया हो।

यदि आपके घर पर सब सही चला रहा है (हालांकि दिमाग अपसेट हो, तो यह तय करना भी कठिन होगा) तो यह समस्या शायद आपके काम की जगह पैदा हुई हो। महीनों या सालों तक एक-सा काम (जो क्रिएटिव कतई नहीं पर कठिन और नीरस दोनों हो सकता है) करते हुए आपको मानसिक तनाव जकड़ लेते हैं। शायद इसी तनाव से बचने के लिए सप्ताह के अंत में छुट्टियां आती हैं ताकि आप अपना मनोरंजन करें, जिसका महत्व आज हम में से अधिकांश लोग समझने की कोशिश नहीं करते हैं। सबा इंडस्ट्रीज एवं सबा फैमिली फाउंडेशंस की फाउंडर मालिनी सबा बता रही हैं, कैसे पॉजिटिव होकर ऑफिस स्ट्रेस को करें दूर और खुद के अंदर करें पॉजिटिव सोच का विकास।

खाना खाते ही ऑफिस में आने लगती है सुस्ती और नींद, तो इन बातों को करें फॉलो

Also Read

More News

पेशे में तनाव बढ़ाता है घबराहट

कई पेशे ऐसे हैं, जिनमें तनाव की वजह से घबराहट की समस्या पैदा हो सकती है। इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे उम्मीद से कम पैसे मिलना, काम में बड़ी जिम्मेदारी जैसे पायलट का काम और फिर बड़ी रकम संभालने का काम, जिसमें खतरा भी ज्यादा हो जैसा कि ब्रोकरेज फर्म में होता है। एक अन्य ऐसा काम काॅल सेंटर का है, जहां लोगों को अक्सर गुस्साए ग्राहकों से बात करना होता है। ऐसे में, हमें यह समझना होगा कि हमें ऐसे माहौल में काम करना है जो सबके लिए बराबर है। यदि आप इतने प्रतिभावन हैं कि बहुत कम उम्र में लाखों-करोड़ों जमा कर लें तो ही शायद इससे बच पाएं! पर बाकी बचे अधिकांश लोगों के लिए हमें यह देखना होगा कि वे कैसे अनावश्यक झुंझलाहट और तनाव को ऑफिस की खिड़की से बाहर फेंक कर छुटकारा पाने की कोशिश करते हैं। साथ ही, इस बात पर भी गौर करने की कोशिश करें कि कैसे आपकी जिंदगी खूबसूरत हो सकती है और कितनी हसीन और बेहतर है यह जिंदगी।

कठिनाइयों को हटाएं परे

- बार-बार समस्याओं की बात करने के बदले समाधान पर ध्यान दें। समस्याओं के घेरे से बाहर निकलें। दिमाग पर जोर डालें और आज से समाधान शुरू कर दें। बारी-बारी से समस्या उठाएं और धैर्य से सब का समाधान करें।

ऑफिस में रहना है दिन भर एनर्जेटिक, तो घर से लाएं ये 5 हेल्दी स्नैक्स

- काम की जगह तू-तू, मैं-मैं करने से तनाव और बढ़ता है। इससे आपका ही काम प्रभावित होगा। हालांकि, यदि बुनियादी सुविधा के अभाव में आप सही से काम नहीं कर पाते हैं तो मैनेजर को जरूर बताएं।

आपके वश से बाहर की चीजों पर काबू करना सीखें

हमें तनाव देने वाली अधिकांश चीजों पर हमारा वश नहीं चलता है। हालांकि, यदि आप नामुमकिन को मुमकिन करने और इससे उबर कर निकलने की कला सीख लें तो आपका व्यक्तित्व और मजबूत होगा और आप भविष्य में अधिक सफल रहेंगे।

ब्रेक लें

छुट्टियां हम सभी के लिए जरूरी है ताकि आप फ्रेश मूड से दोबारा काम पर वापस लौट सकें। सिर्फ काम से मतलब रखना भी सेहत के लिए अच्छी बात नहीं है। चार-पांच महीने के अंतराल में कहीं घूमने के लिए जाएं। इससे मानसिक तनाव दूर होगा। मन शांत और मूड फ्रेश होगा।

ऑफिस स्ट्रेस से पाना है छुटकारा, तो रूटीन में यूं करें बदलाव

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on