Advertisement

Holi 2022: होली का आनंद उठाने से पहले ऐसे करें बॉडी डिटॉक्स, आपका डाइजेशन रहेगा हेल्दी

होली के दौरान आप जो खाना खाएं वह आपके पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करने वाला होना चाहिए। इसलिए जरूरी है कि 2 से 3 दिन पहले डिटॉक्स प्रोग्राम शुरू कर दिया जाए।

होली रंगों, खुशियों और प्यार का त्योहार है। इस मौके पर खान-पान और शारीरिक रूप से खुद का ध्यान रखना जरूरी होता है लेकिन होली में खुद की भावनात्मक और मानसिक स्थिति का ख्याल रखना भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। होली प्यार और खुशी का त्योहार होने के नाते हमें सभी को प्यार और सकारात्मक ऊर्जा के साथ बधाई देने का संकल्प लेना चाहिए। होली के रंग हमारे जीवन के रंगों को भी दर्शाते हैं। हमें सभी सात चक्रों को सक्रिय करने के लिए मेडिटेशन करना चाहिए। इससे हमारे जीवन के विभिन्न रंग संतुलित  हो जायेंगे। सही योग रूटीन आपके शरीर और दिमाग को डिटॉक्स करने में भी आपकी मदद कर सकती है। रोज योग करके हम अपने शरीर को कार्बन डाइऑक्साइड, लैक्टिक एसिड और लसीका द्रव जैसी अवांछित अशुद्धियों को खत्म करने में मदद कर सकते हैं और ख़ून को शरीर के अंगों तक जाने में ज्यादा सुविधा दे सकते हैं।

होली के दौरान लोग ठंडाई, गुझिया, पकोड़े, मिठाई आदि खाते हैं। होली की तैयारी होली से 2 से 3 दिन पहले शुरू हो जानी चाहिए, और हमारा मतलब सिर्फ त्यौहार मनाने की तैयारी नहीं, बल्कि होली के लिए शरीर और पाचन तंत्र को भी तैयार करना जरूरी है। इस दौरान आप जो खाना खाएं वह आपके पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करने वाला होना चाहिए। इसलिए जरूरी है कि 2 से 3 दिन पहले डिटॉक्स प्रोग्राम शुरू कर दिया जाए।

  • हर त्यौहार  का आनंद लेते हुए खुद को हाइड्रेट रखने के लिए कम से कम 3 से 4 लीटर पानी पीने की कोशिश करें।
  • डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल, ब्लड प्रेशर और अन्य हृदय संबंधी समस्याओं से पीड़ित लोगों को जितना हो सके उतना कार्ब के सेवन से बचना चाहिए, क्योंकि इसका ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।
  • डिटॉक्सिफिकेशन सिस्टम को बेहतर बनाए रखने के लिए आंत का स्वास्थ्य अच्छा होना महत्वपूर्ण है। अपने पेट को स्वस्थ रखने के लिए आपको आर्टिचोक, टमाटर, शतावरी, केला, जई, प्याज और लहसुन जैसे ज्यादा प्रीबायोटिक से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। ये खाद्य पदार्थ आंत के स्वस्थ बैक्टीरिया खाते हैं, जिससे उन्हें फैटी एसिड बनाने में मदद मिलती है।
  • अपने ब्लड शुगर शर्करा, ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में रखने के लिए खुद को योग जैसी शारीरिक गतिविधियों में व्यस्त रखें।
  • संतुलित खानपान और निर्धारित कैलोरी सेवन पर टिके रहें।
  • अपनी मिठाइयाँ घर पर बनाने की कोशिश करें ताकि आप उन्हें तैयार करने में लगने वाले कार्बोहाइड्रेट, तेल और चीनी को अपने अनुसार नियंत्रित कर सकें।
  • धीरे-धीरे खाएं क्योंकि भोजन के कुछ कौर आपको बिना ज्यादा कैलोरी के त्यौहार का आनंद लेने में मदद प्रदान करेंगे।
  • आपके पास पके हुए गुझिया, ब्राउन ब्रेड दही वड़ा, रागी मालपुए, कम फैट वाले और बिना भांग ठंडाई, और फलों का रायता जैसे होली के पकवानो का एक स्वस्थ विकल्प हो सकता है।
  • हर किसी का बॉडी मास इंडेक्स, डेली रूटीन और मेटाबॉलिज्म रेट अलग-अलग होता है, और इसलिए कोई भी खानपान में बदलाव करने से पहले इन सभी फैक्टर को ध्यान में रखा जाना चाहिए।

(इनपुट: पूजा पाल, योगा थेरेपीस्ट, डीवाइन सोल योगा)

Also Read

More News

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on