Advertisement

Holi 2021: होली में क्या आप भी लगाते हैं सरसों का उबटन ? जानें मस्टर्ड पेस्ट आपकी स्किन को कैसे पहुंचाता है फायदा

सरसों में विटामिन ई और विभिन्न एंटी-बैक्टेरियल तत्व होते हैं। ये त्वचा को बैक्टेरियल इंफेक्शन से बचाते हैं। साथ ही स्किन को हाइड्रेटेड रखकर उसकी ड्राईनेस बढ़ने से रोकते हैं। फ्री रैडिकल्स डैमेज़ से भी सुरक्षा देती है सरसों। तो चलिए जानते हैं सरसों का उबटन लगाने से स्किन और ओवरऑल हेल्थ में कैसे होता है सुधार। (Mustard Seeds Benefits)

Mustard Seeds Beauty Benefits:  होली का त्योहार (Holi 2021) ना केवल रंगों और मिठाइयों का त्योहार है बल्कि, इस पर्व से भारतीय संस्कृति और जनजीवन का भी गहरा जुड़ाव है। वसंत का मौसम बीतने के बाद जब धीरे-धीरे गर्मी बढ़ने लगती है तब तन-मन को ठंडक देने के लिए होली का त्योहार मनाया जाता है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि होली के त्योहार के साथ जुड़ी कई परम्पराएं ऐसी हैं जो हमारी सेहत से भी जुड़ी हैं। ऐसी ही एक परम्परा है होलिका दहन (Holika Dahan) से पहले उबटन लगाने की।

होली में उबटन क्यों लगाया जाता है ?

देश के कई हिस्सों में होलिका दहन से पहले उबटन (Appalling Ubtan before Holi) लगाकर स्नान किया जाता है। इस सदियों पुराने रिवाज़ को पूरा करने के लिए खासतौर पर उत्तर भारत में सरसों के दानों को पीसकर उबटन तैयार किया जाता है। इस उबटन को शरीर पर लगाकर मसाज की जाती है और फिर सूखने के बाद इसे रगड़कर छुड़ाया जाता है। होलिका दहन के समय शरीर से छुड़ाए गए उबटन को होलिका दहन की अग्नि में डाल दिया जाता है।  ऐसा माना जाता है कि उबटन के अवशेषों के जलने के साथ शरीर बीमारियों से भी मुक्त हो जाता है। लेकिन, यह मान्यता क्या केवल एक मिथक है या इसके पीछे हैं कोई वैज्ञानिक कारण। आइए जानते हैं। (Mustard Seeds Beauty Benefits)

क्या सरसों का उबटन लगाना सेहत के लिए है लाभकारी?

सरसों के बीज या मस्टर्ड सीड्स पंजाब (Punjab) से लेकर बंगाल (West Bengal) और तमिलनाडु (Tamil Nadu) से लेकर राजस्थान (Rajasthan) तक, हर रसोई में विभिन्न प्रकार की डिशेज़ में तड़के के लिए इस्तेमाल किए जाते रहे हैं। देश के सबसे समृद्ध राज्यों में सरसों की खेती की जाती है और वहां, सरसों के पत्तों से बना साग (Sarso ka Saag), फूलों से बने सलाद और इसके सूखे बीज़ों से प्राप्त होनेवाले तेल (Mustard Oil) का सेवन किया जाता है। सरसों के तेल ना केवल स्वास्थ्यवर्धक है बल्कि, यह आपके बालों और स्किन  (Mustard Oil for Skin)  को भी खूबसूरत बनाता और हेल्दी बनाता है। इसीलिए, सरसों के तेल से बालों की मसाज की जाती है और मस्टर्ड सीड्स पाउडर का प्रयोग कई तरह के होममेड फेस मास्क और बॉडी पैक्स में भी किया जाता है। ( (Mustard seed for skin)

Also Read

More News

Eating healthy during Holi 2021: होली में इस तरीके से बनाएं पकवानों को हेल्दी, नहीं बढ़ेगा वेट, होली के लिए 7 हेल्दी रेसिपीज़

सरसों का उबटन लगाने के फायदे  (Mustard Seeds Beauty Benefits)

स्किन इंफेक्शन को रखे दूर

इन नन्हे-काले बीज़ों में नैचुरल ऑयल्स के गुण भरे होते हैं। साथ ही सरसों में कई एंटी-फंगल (Anti-Fungal) तत्व भी होते हैं। जो स्किन में छुपे बैक्टेरिया को खत्म करता है। इससे, आपको पिम्पल्स (Pimples), ब्लैक हेड्स (Black Heads) और अन्य स्किन इंफेक्शन्स (Skin Infection) से सुरक्षा मिलती है।

डेड स्किन सेल्स को हटाए

सरसों के बीज का पाउडर नैचुरल स्क्रब की तरह काम करता है और सौम्यता से स्किन की सफाई करता है। जब आप सरसों का उबटन त्वचा पर लगाती हैं तो इससे आपकी स्किन नैचुरली एक्सफॉलिएट होती है। त्वचा को ड्राई और खुरदरा बनानेवाली डेड स्किन (Dead Skin Cells) सेल्स की परतें हटती हैं जिससे आपकी स्किन निखरी हुई नज़र आती है। यही नहीं, उबटन लगाने से स्किन पोर्स में छुपी गंदगी भी साफ हो जाती है जिससे त्वचा खुलकर सांस ले पाती है। (Benefits of Mustard Seeds for Skin in hindi)

एंटी-एजिंग

गुणकारी सरसों के बीजों का पेस्ट लगाने से त्वचा पर एंटी-एजिंग इफेक्ट्स (Anti-Ageing) पड़ते हैं। यह चेहरे पर दिखनेवाली महीन रेखाओं (Fine Lines) और रिंकल्स (Wrinkles) को कम करता है। यह उम्र के साथ त्वचा पर दिखनेवाली झाइयों यानि ब्लैक स्पॉट्स (Balck Spots) को भी कम करता है। दरअसल, सरसों या राई के दानों में ल्यूटिन (Lutein) और कैरोटीन (Carotene) नामक तत्व मौजूद होते हैं। जो, त्वचा को ज्यादा समय तक जवां (Young Skin) और टाइट दिखाने का काम करते हैं। (Tips for Young Skin)

Holi Beauty Tips: होली में यूं रखें बालों, आंखों, स्किन और नाखूनों को सुरक्षित और हेल्दी, इन शहनाज़ हुसैन टिप्स के साथ

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on