Advertisement

डायबिटीज में न करें पैरों की लापरवाही

इस बीमारी में शरीर के किसी भी हिस्‍से में संक्रमण जोखिम पैदा कर सकता है।

सूखी, खुरदुरी और सख्‍त एडि़यां किसी की भी अच्‍छी नहीं लगतीं। यह सिर्फ सौंदर्य ही नहीं बल्कि, स्‍वास्‍थ्‍य का भी हिस्‍सा है। अगर आप स्‍वस्‍थ रहना चाहते हैं तो जरूरी है कि सिर से पांव तक अपनी सफाई का ध्‍यान रखें। पर यदि आप किसी रोग से पीडि़त हैं तो यह और भी जरूरी हो जाता है। खासतौर से डायबिटीज से पीडि़त व्‍यक्तियों के लिए फटी हुई एडि़यां संक्रमण का कारण बन सकती हैं।

क्‍या है नुकसान

फटी हुई एडि़यां देखने में तो खराब लगती ही हैं, अगर इनकी लापरवाही की जाए तो इन दरारों से खून भी आने लगता है। खासतौर से मानसून के सीजन में इन्‍हें संभालना और मुश्किल हो सकता है। इसलिए जरूरी है पैरों के इस हिस्‍से की सफाई को भी अपने डेली रूटीन में शामिल करें।

Also Read

More News

डायबिटीज में हो सकती है मुश्किल

यदि आपको शुगर की बीमारी हो तब तो एड़ि‍यों का फटना आपको और भी मुसीबत में डाल सकता है, इससे संक्रमण और घाव होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए बेहतर होगा कि आपको कोई बीमारी हो या न हो, पैरों और एड़ि‍यों की सफाई रखने को आप अपनी दिनचर्या में शामिल कर ही लें।

यह भी पढ़ें - मेकअप की गलतियों को ऐसे करें मैनेज

अपनाएं ये टिप्‍स

  • जितना हो सके, अधिक मात्रा में पानी पिएं, इससे शरीर में नमी का स्तर बना रहेगा और एड़ियां भी नर्म रहेंगी।
  • एडि़यां अगर बार-बार फटती हैं तो सरसों के तेल को डायट में शामिल करें।
  • एडि़यों पर अच्‍छी कंपनी का लोशन लगाएं और हो सके तो रात को सोने से पहले इनकी हल्‍की मसाज करें।
  • रोजाना नहाते वक्त अपने पैरों और एड़ि‍यों को अच्छे से रगड़कर स्क्रब करें या प्युमिक स्टोन का प्रयोग कर सकते हैं। इससे पैरों और एड़ि‍यों पर जमी मृत त्वचा हटेगी।
  • जब भी कहीं बाहर से घर लौटे तो हाथ-मुंह धोने के साथ ही अपने पौरों को भी जरूर धोएं। इससे उनपर गंदगी नहीं जमा होगी।

यह भी पढ़ें - लाजवाब ब्‍यूटी प्रोडक्‍ट है शहद, जानें इसके फायदे

  • पैरों को साफ करने के लिए एंटीसेप्टिक साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे पैरों की कीटाणुओं से रक्षा होगी।
  • पैरों और एड़ि‍यों पर कटा हुआ नींबू रगड़ने पर सफाई बेहतर होती है, और नर्माहट भी बनी रहती है। कम से कम सप्ताह में एक दिन यह प्रयोग जरूर करें।
  • एक टब में गर्म पानी लेकर उसमें एक चम्मच इप्सम डालें और कुछ देर तक पैर डाल कर बैठ जाएं। थोड़ी देर बाद ठीक तरह से सफाई करें, इससे मृत कोशिकाएं असानी से निकल जाएंगी।

यह भी पढ़ें -पोषण का खजाना है यह खास रंग

  • पैरों को अधिक समय तक गीला न रखें। अच्छी तरह सुखाने के बाद उनपर लोशन लगाएं।
  • आरामदेह जूते या चप्पलों का चयन करें। ध्यान रखें कि जूते न तो बहुत टाइट हों, और ना ही ढीले। बहुत सख्त जूते-चप्पल आपके पैरों में दर्द पैदा कर सकते हैं और कसे हुए पैरों में फोड़े-फुंसी होने की आशंका भी ज्यादा रहती हैं।
  • जूतों में परेशानी हो, तो एड़ी या पैर के पीछे वाले हिस्से पर टेप चिपका लें, फिर जूते पहनें। इससे चलने में परेशानी भी नहीं होगी और पैरों पर निशान भी नहीं बनेंगे।
  • एड़ि‍यों को खासतौर पर रूखा न होने दें, रूखी त्वचा होने पर एड़ियां जल्दी फटती है।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on