Advertisement

Ayurvedic Anti-Aging Treatment: 30 के बाद चेहरे पर दिखने लगा है बुढ़ापा, तो इन आयुर्वेदिक औषधियों और थेरेपी करें उपचार

अक्‍सर 30 की उम्र के बाद त्‍वचा पर एजिंग के प्रभाव दिखने लगते हैं। आयुर्वेद ने एजिंग के कई कारण बताए हैं। यदि आप अपनी स्किन को जवान रखना चाहते हैं तो आपको आयुर्वेदिक तकनीकों का प्रयोग करना चाहिए। आपकी स्किन में एजिंग के लक्षण पहले क्यों दिखने लगते हैं और उनके लिए क्या इलाज है जानने के लिए पढ़ें ये लेख

आज की युवा पीढ़ी जिस प्रकार की लाइफस्‍टाइल जी रही है उस हिसाब से कम उम्र में ही 'बुढ़ापे' का दस्‍तक देना स्‍वाभाविक है। यदि आपकी स्किन भी ज्यादा उम्र की लगती है और आपकी स्किन में एजिंग (Aging) साइन दिख रहे हैं तो आपको अपनी त्‍वचा की अतिरिक्‍त देखभाल की आवश्यकता है। आयुर्वेद में बहुत सारे एंटी एजिंग सीक्रेट मौजूद हैं जो आपके लिए लाभदायक हो सकते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, हमारी त्वचा की अधिकांश समस्याओं को प्राकृतिक अवयवों और जड़ी बूटियों की मदद से ठीक किया जा सकता है। यहां कुछ आयुर्वेदिक एंटी एजिंग ट्रीटमेंट के बारे में बताया गया है, जो आपको देंगे बेदाग निखरी त्वचा।

कम उम्र में ही एजिंग के लक्षण दिखने का क्या कारण है?

आमतौर पर कम उम्र में एजिंग का कारण खराब डाइट व अनहेल्दी आदतें हो सकती हैं। इसके अलावा बहुत अधिक स्ट्रेस लेने से व परेशान रहने से भी आपको एजिंग साइन देखने को मिल सकते हैं। यूवी किरणें, प्रदूषण व वातावरणीय स्थितियों के कारण भी आपकी स्किन अपना यंग लुक खो सकती है।

स्किन के लिए एंटी एजिंग हर्ब्स

  • हरिद्रा : हल्दी
  • शिगरू : ड्रम स्टिक
  • निंबा : नीम
  • तैला परनी : यूकेलिप्टस
  • हरितकी : माइरोबलन

आयुर्वेदिक एंटी एजिंग ट्रीटमेंट

आयुर्वेद आपको बहुत सारे ऐसे एंटी एजिंग उपचार देता है जो आपकी स्किन को पुर्नजीवित करते हैं और आपकी स्किन को एजिंग से बचाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार हमारे अंदर तीन गुण होते हैं, वात, कफ़ व पित्त। एक प्रभावित स्किन सॉल्यूशन इन तीनों गुणों को सपोर्ट करता है।

Also Read

More News

इन गुणों में असंतुलन होने के कारण भी आपको स्किन समस्याएं हो सकती हैं:

  • कफ में असंतुलन के कारण नमी का बैलेंस बिगड़ सकता है।
  • एक प्रभावित मेटाबोलिक फंक्शन आपकी स्किन के बहुत सारे केमिकल्स व रिएक्शन को नियंत्रित करता है। पित्त का असंतुलन इस बैलेंस को बिगाड़ता है।
  • वात असंतुलन एक अप्रभावी ब्लड सर्कुलेशन पैदा करता है और इस वजह से हमारी स्किन की अलग अलग परतों को पोषण नहीं मिल पाता है।

त्‍वचा को हेल्‍दी रखने के लिए आयुर्वेदिक थेरेपी

टर्मरिक बॉडी रैप : यदि आप एक रेडियंट स्किन चाहते हैं तो यह बॉडी रैप आपके लिए परफेक्ट रहने वाला है। यह हल्दी व कुछ अन्य हर्ब्स के द्वारा बना हुआ होता है। यह एक प्राकृतिक प्यूरिफाइंग एजेंट है जो आपकी स्किन को स्मूथ बनाता है आपकी पूरी बॉडी को नरिश करता है।

क्लोरोफील बॉडी रैप : यह रैप स्किन को रिजूवनेट करता है। यह रैप मिरेकल ट्री की मोरिंगा ऑलिफरा पत्तियों से बना होता है और इसे एक पेस्ट बनाने के लिए इसे पवित्र सुखोसन जल मिला सकते हैं। इस रैप में बहुत सारे विटामिन, मिनरल व प्रोटीन होते हैं इसलिए यह हमारी स्किन सेल्स को बहुत से एंटी ऑक्सिडेंट देता है। यह हमारी स्किन को मॉइश्चराइज, नरीश व क्लीन भी करता है।

काया लेपम : यदि आप भी अपनी झुर्रियों से मुक्ति पाना चाहते हैं तो यह लेप आपके लिए बहुत सही रहने वाला है। यह स्किन टाइट करने की एक प्रक्रिया होती है जिसमें चावल का एक्सट्रैक, हर्बल पाउडर, नारियल व बादाम का तेल मिला हुआ होता है। यह लेप आपके कंप्लेशन को लाइट करता है, आपकी स्किन को टाइट करता है और आपकी डेड स्किन सेल्स को स्किन से खत्म करता है।

शहद व सेस्मे बॉडी रैप : यदि आप एक हेल्दी व ग्लोइंग स्किन चाहते हैं तो इस रैप को जरूर ट्राई करें। यह शहद व सेस्मे का एक प्राकृतिक लेप है जो आपकी स्किन को एक्सफोलिएट करता है और डेड स्किन सेल्स को खत्म करता है।

फ्रूट बॉडी रैप : क्या आप भी एक फ्रूट फैन हैं? यदि हां तो आप फ्रूट के पल्प, क्लींजर व ऑयल का बना हुआ यह डिटॉक्सिफाई करने वाला लेप लगा सकते हैं। यह आपकी स्किन को टाइट व हेल्दी रखता है। इससे आपकी स्किन में एक निखार भी आता है और यह लेप आपकी स्किन को हाइड्रेट भी करता है।

नीम बॉडी रैप : यदि आपकी स्किन में टैनिंग हुई है तो उसे मिटाने का यह एक बहुत ही अच्छा तरीका है। नीम की पत्तियों की यह प्युरी यूक्लेप्टस ऑयल के साथ मिला कर तैयार की गई है ताकि सूर्य के एक्सपोजर के कारण आपका स्किन डेमेज सही किया जा सके और आपको एक स्मूथ व सॉफ्ट स्किन मिल सके।

सब्जियों का बॉडी रैप : यह एक एंटी ऑक्सिडेंट से भरपूर सब्जियों के पल्प व एक्सट्रैक्ट का मिश्रण है जो आपकी बॉडी को डिटॉक्स करेगा और आपकी स्किन को टाइट व ब्राइट बनाएगा। इन सभी चीजों को मिश्रण आपकी स्किन को निखार देता है।

चंदन का बॉडी रैप : क्या आप बेबी सॉफ्ट स्किन चाहते हैं तो आप चंदन के लेप का इस्तेमाल कर सकते हैं जोकि एक एंटी बायोटिक एलिमेंट है। यह स्किन को क्लीन करता है, उसे एक ग्लो देता है व स्किन को मॉइश्चराइज करता है।।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on