Sign In
  • हिंदी

Side Effects of Tulsi: तुलसी के फायदे ही नहीं, जानें इसके अधिक सेवन से सेहत को होने वाले ये 7 नुकसान

जो लोग ब्लड थिनर लेते हैं, उन्हें तुलसी के सेवन से बचना चाहिए।

गर्मी हो या सर्दी का मौसम, तुलसी के अधिक सेवन से सेहत को हो सकते हैं ये 7 बड़े नुकसान।

Written by Anshumala |Updated : February 1, 2021 3:21 PM IST

Side Effects of Tulsi in Hindi: तुलसी एक पवित्र, पूजनीय औषधी है, जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में वर्षों से किया जा रहा है। तुलसी (Tulsi) का पौधा आमतौर पर अधिकतर भारतीय घरों के आंगन, बलकनी में मिल जाएगा। लोग सुबह-शाम इस पवित्र पोधे में जल, अगरबत्ती, दीया जलाकर पूजा करते हैं। इसके स्वास्थ्य लाभों की बात करें, तो यह अनगिनत फायदों (Tulsi benefits) से भरपूर होती है। तुलसी (Basil leaves) का इस्तेमाल काढ़ा, चाय बनाने में खूब किया जाता है। साथ ही इसकी पत्तियों को आप यूं ही चबाकर खा सकते हैं। इससे सांस की बदबू, मुंह के रोग दूर होने के साथ कई अन्य सेहत लाभ होते हैं। इसके अलावा, कोरोना काल में तुलसी खाने से शरीर की इम्यूनिटी मजबूत होती है। हालांकि, तुलसी की तासीर (Tulsi ki tasir) गर्म होती है, लेकिन सर्दियों के दिनों में इसका अत्यधिक सेवन करना भी नुकसानदायक हो सकता है। आइए जानते हैं तुलसी के अधिक सेवन के क्या-क्या नुकसान (Tulsi leaves Side Effects in Hindi) होते हैं।

तुलसी खाने के नुकसान (Tulsi side effects in hindi)

1 जब आप तुलसी की पत्तियों को किसी भोजन में मिलाकर खाते हैं, तो यह हेल्दी होती है। लेकिन, जब आप इसे सीधा चबाकर खाते हैं, तो यह नुकसानदायक हो सकती है। तुलसी और इससे तैयार तेल में एस्ट्रागोल (Estragole) नाम का केमिकल होता है, जो लिवर कैंसर होने की संभावनाओं को बढ़ा सकता है।

2 तुलसी का तेल (Basil oil) और इसका सत या एक्सट्रैक्ट (Extract) शरीर में ब्लड क्लॉटिंग प्रॉसेस को धीमा कर सकते हैं। जिन लोगों को ब्लीडिंग डिसऑर्डर की समस्या है, उनमें ब्लीडिंग के रिस्क को बढ़ा सकता है। सर्जरी के दौरान भी ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। यदि आपकी कोई सर्जरी होने वाली है, तो 2 सप्ताह पहले से ही तुलसी का सेवन करना बंद कर दें।

Also Read

More News

3  गर्भवती महिलाओं को भी तुलसी का सेवन अधिक करने से बचना चाहिए। चूंकि, तुलसी की तासीर गर्म होती है, इसलिए गर्भावस्था में इसकी पत्तियों को चबाने या तुलसी का काढ़ा पीने से शरीर में गर्मी बढ़ सकती है। इसमें यूजेनॉल नामक तत्व होता है, जो वेजाइनल ब्लीडिंग की समस्या को बढ़ा सकता है।

4 तुलसी में कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं, जो रक्त को पतला करने का काम करते हैं। वैसे, खून का गाढ़ा होना सेहत के लिए सही नहीं होता, लेकिन जो लोग ब्लड थिनर लेते हैं (खून को पतला करने वाली दवाएं), उनके लिए तुलसी का सेवन हानिकारक हो सकता है।

5 जिन लोगों को डायबिटीज है, उन्हें तुलसी का सेवन (Tulsi ke nuksan) अधिक करने से बचना चाहिए। तुलसी की पत्तियों को खाने से शुगर लेवल कम हो सकती है। डायबिटीज होने पर यदि आप शुगर को कंट्रोल करने के लिए दवाओं का सेवन करते हैं, साथ ही तुलसी का भी सेवन करते हैं, तो शरीर में शुगर लेवल कम हो सकता है।

6 पुरुष अगर तुलसी की पत्तियों का सेवन अधिक करते हैं, तो उनकी प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक असर (Side Effects of Tulsi) होता है। इससे स्पर्म काउंट में कमी आती है। ऐसे में आपके पिता बनने की संभावनाएं कम हो सकती हैं।

7 तुलसी की तासीर गर्म होती है, ऐसे में इससे तैयार काढ़ा, चाय अधिक पिएंगे, तो आपके पेट में जलन, सूजन की समस्या हो सकती है।

Tulsi Benefits : तुलसी के हैं अनगिनत लाभ, आप भी जानें

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on