• हिंदी

सर्दियों में कैसी होनी चाहिए दिनचर्या, जानें आयुर्वेद के नियम और रहें इस विंटर सीजन में हेल्दी

सर्दियों में कैसी होनी चाहिए दिनचर्या, जानें आयुर्वेद के नियम और रहें इस विंटर सीजन में हेल्दी

इस लेख में पढ़ें आयुर्वेद के अनुसार ठंड के मौसम में किस तरह का खानपान होना चाहिए और किस तरह से दिनचर्या प्लान करनी चाहिए।

Written by Sadhna Tiwari |Published : December 7, 2023 6:20 PM IST

Diet and lifestyle in winters: मौसम बदलने के साथ ही लोगों को अपने खान-पान और लाइफस्टाइल में बदलाव कर लेना चाहिए ताकि आप मौसमी बीमारियों से बच सकें और बदलते तापमान में आपके शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सभी पोषक तत्व आपको मिल सकें। आयुर्वेद में भी सर्दियों के मौसम में अलग तरह की दिनचर्या और डाइट फॉलो करने की सलाह दी गयी है। इस लेख में पढ़ें आयुर्वेद के अनुसार ठंड के मौसम में किस तरह का खानपान होना चाहिए और किस तरह से दिनचर्या प्लान करनी चाहिए।

उठने के बाद करें ये काम

सर्दियों में सवेरे हल्का गुनगुना पानी पीएं। इसमें अपनी पसंद के अनुसार, तुलसी, नींबू का रस और शहद जैसी चीजें भी मिला सकते हैं।

एक्सरसाइज करें

हर मौसम की तरह सर्दियों में भी सवेरे एक्सरसाइज करें। रोजाना 15-20 मिनट की हल्की-फुल्की एक्सरसाइज भी आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। यह आपको दिन भर एनर्जेटिक और मोटीवेटड रहने में भी मदद करेगी।

Also Read

More News

तलवों की मसाज करें

ठंड के दुष्प्रभाव से बचने का एक और अच्छा तरीका है गुनगुने तेल से पैरों और तलवों की मालिश करना। रात में सोने से पहले कुछ देर तक पैरों की मालिश करें और तलवों में गर्म तेल लगाकर सूती मोजे पहनकर सो जाएं। ऐसा करने से घुटनों के दर्द से भी राहत मिलेगी।

डाइट

सर्दियों के मौसम में हेल्दी और फिट रहने के लिए डाइट पर खास ध्यान दें। सदियों में हमेशा ताजा और गर्म भोजन खाएं। अपनी डाइट में विटामिन सी और हाई प्रोटीन वाले फूड्स खाएं। अलसी के बीज, तिल और मूंगफली जैसी चीजों का भी सेवन जरूर करें।

ये टिप्स भी रखें ध्यान में

  • नंगे पैर फर्श पर चलने से बचें। पैरों में हमेशा चप्पल और मोजे पहनें।
  • गर्म-ऊनी कपड़े पहनें और शरीर को ठंड ना लगने देँ।
  • बदन दर्द जैसी समस्याओं से बचने के लिए थोड़ी देर धूप में बैठें।