Sign In
  • हिंदी

Hibiscus Uses In Ayurveda: गुड़हल के फूल का इन 4 तरीकों से करें इस्तेमाल, शुगर ठीक करने से लेकर हार्ट अटैक में है फायदेमंद

आयुर्वेद में हिबिस्कस (गुड़हल के फूल) को एक औषधीय पौधा माना जाता है, और शोधकर्ताओं ने पाया है कि इसके कुछ स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं। अध्ययनों से पता चलता है कि हिबिस्कस हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है।

Written by Atul Modi |Updated : October 5, 2021 2:11 PM IST

अक्सर हम बगीचों में रंग-बिरंगे, सुंदर और तरह-तरह के फूल देखते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ ऐसे फूल भी है जो सिर्फ बगीचे की शोभा ही नहीं बढ़ाते हैं, बल्कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी चमत्कार कर सकते हैं उन्हीं में से एक है हिबिस्कस यानी गुड़हल का फूल (Hibiscus Flower)। हिबिस्कस या गुड़हल के फूल स्वाद में मीठे और कसैले होते हैं। इनकी तासीर ठंडी होती है जिससे यह बढ़े हुए पित्त को कम कर सकते हैं और कफ को संतुलित कर सकते हैं। लोग इनका उपयोग भोजन के रूप में भी करते हैं, विशेषकर पेय पदार्थ बनाने में।

आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. दीक्षा भावसार (Dr. Dixa Bhavsar) बताती हैं कि, पित्त को शांत करने वाली क्रिया और अपने रक्तस्राव रोधी गुणों के कारण, हिबिस्कस के फूलों का व्यापक रूप से पिंपल्स, रक्तस्राव विकारों या मसूड़ों से खून आने के उपचार में उपयोग किया जाता है। वे दिल के लिए अच्छे होते हैं और रक्तचाप के साथ ही कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी प्रभावी हैं। सिर्फ इतना ही नहीं एनीमिया, बवासीर, अनिद्रा, यूटीआई, एपिस्टेक्सिस और मेनोरेजिया जैसे रक्तस्राव विकारों में भी हिबिस्कस का उपयोग बेहद मददगार साबित हो सकता है। लेकिन सवाल यह उठता है कि आप हिबिस्कस के फूल का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं और इसके स्वास्थ्य लाभों का आनंद ले सकते हैं? चलिए हम आपको बताते हैं।

तो आप हिबिस्कस (गुड़हल) के स्वास्थ्य लाभों का आनंद कैसे ले सकते हैं?

डा. दीक्षा के अनुसार ​हिबिस्कस (गुड़हल) के फूल, पत्ते और बीज सभी का सेवन किया जा सकता है साथ ही आप कई अन्य तरीकों से भी इसका उपयोग कर सकते हैं। जैसे-

Also Read

More News

1. हिबिस्कस की चाय - Hibiscus Tea

एक गिलास उबलते पानी में 5 गुड़हल की पंखुड़ियां डालें। इसे 2 मिनट उबलने दें और उसके बाद आंच से उतार लें। अब इसे एक बर्तन में छान लें और ठंडा होने दें। पित्त-प्रधान संविधान वाले बुद्धिजीवी और काम करने वाले लोगों को देर रात तक जागने की आदत होती है, त्वचा के नीचे फंसी अतिरिक्त गर्मी के कारण उनके बाल झड़ जाते हैं। गुड़हल की चाय उस अतिरिक्त गर्मी को नियंत्रित करने और पित्त को संतुलित करने में मदद करती है।

hibiscus-tea-benefits

2. बालों के लिए हेयर मास्क - Hibiscus For Hair Problem

10 गुड़हल के फूलों की पंखुड़ियों को 500 मिली (2 कप) पानी में रात भर भिगो दें। अगली सुबह अपने हाथों से फूलों को पानी में निचोड़ें और उन्हें पानी से से निकाल लें। इस फ़िल्टर्ड चाय को अपने बालों में लगाएं। अपने बालों को शॉवर कैप से ढक लें और 20 मिनट बाद गर्म पानी से धो लें।

3. हिबिस्कस हेयर ऑयल - Hibiscus Hair Oil

20 से 30 गुड़हल की कलियों को छाया में सुखाकर बारीक पीस लें। इसे एक एयर टाइट कंटेनर में स्टोर करें। अपने हीमोग्लोबिन के स्तर में सुधार के लिए इसे दिन में दो बार आधा चम्मच शहद के साथ लें।

4. मधुमेह के लिए हिबिस्कस - Hibiscus For Diabetes

गुड़हल के फूल को रात भर पानी में भिगो दें और अगले दिन इसे छान लें, और सुबह इसे घूंट-घूंट कर पीएं। इससे आपका शुगर लेवल कंट्रोल रहेगा।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on