Sign In
  • हिंदी

Diabetes: ये 5 जड़ी बूटियां करेंगी ब्लड शुगर लेवल को कम, जानें फायदेमंद आयुर्वेदिक नुस्खे

Diabetes: ये 5 जड़ी बूटियां करेंगी ब्लड शुगर लेवल को कम, जानें फायदेमंद आयुर्वेदिक नुस्खे

इस लेख में हम आपको ऐसी 5 जड़ी-बूटियों के बारे में बता रहे हैं, जो टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होती हैं और ये ब्लड शुगर कंट्रोल भी करती हैं।

Written by Jitendra Gupta |Updated : January 13, 2021 5:01 PM IST

डायबिटीज एक आजीवन रहने वाली स्वास्थ्य स्थिति है, जो शरीर में ब्लड शुगर और इंसुलिन लेवल को प्रभावित करती है। डायबिटीज (herbal remedies for diabetes) को कंट्रोल रखने के लिए जीवनशैली में बदलाव और दवाएं दोनों ही शामिल होती है, लेकिन कुछ सप्लीमेंट जैसे कि जड़ी-बूटियां इसे कंट्रोल रखने में आपकी मदद कर सकते हैं। दरअसल होता यूं है कि डायबिटीज में आपका शरीर या तो पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन का उत्पादन नहीं कर पाता या फिर इंसुलिन का उत्पादन होता तो है लेकिन शरीर ठीक से उसका उपयोग नहीं करता है।

जिन जड़ी -बूटी की बात हम कर रहे हैं वे भले ही डायबिटीज का इलाज नहीं करती हैं लेकिन लेकिन इसके कुछ लक्षणों से राहत प्रदान करने और जटिलताओं के जोखिम को कम करने में आपकी मदद जरूर कर सकती हैं। इस लेख में हम आपको ऐसी 5 जड़ी-बूटियों (herbal remedies for diabetes) के बारे में बता रहे हैं, जो टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों के लिए बेहद फायदेमंद होती हैं और ये ब्लड शुगर कंट्रोल भी करती हैं। तो आइए जानते हैं इन जड़ी-बूटियों के बारे में।

1. एलोवेरा (aloevara: herbal remedies for diabetes)

एलोवेरा अधिकांश घरों में पाया जाने वाला एक आम पौधा है, जिसके कई अलग-अलग उपयोग हैं। कई लोग इसको त्वचा की देखभाल के लिए इस्तेमाल करते हैं लेकिन बहुत से लोग इसके अन्य लाभ को नहीं पहचान पाते हैं, जिसमें टाइप 2 डायबिटीज (herbal remedies for diabetes) को बढ़ने से रोकना भी शामिल है।

Also Read

More News

कुछ निष्कर्ष बताते हैं कि एलोवेरा पैंक्रियाज में बीटा कोशिकाओं की रक्षा और उन्हें रिपेयर करने में मदद कर सकता है, जो इंसुलिन का उत्पादन करते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि एलोवेरा के एंटीऑक्सिडेंट प्रभाव के कारण ऐसा हो सकता है।

आप एलोवेरा को इन तरीकों से डाइट में शामिल कर सकते हैंः

इसे जूस में मिलाकर पी सकते हैं या फिर स्मूदी में डाल सकते हैं।

कैप्सूल के रूप में भी आप इस सप्लीमेंट का प्रयोग कर सकते हैं।

2. दालचीनी

दालचीनी एक सुगंधित मसाला है, जो पेड़ की छाल से निकाला जाता है। यह मिठाई, बेक्ड फूड्स और अन्य व्यंजनों में प्रयोग होने वाला एक महत्वपूर्ण घटक है। इसमें एक अलग प्रकार का स्वाद होता है, जो बिना किसी अतिरिक्त शुगर के पेय या फिर खाने की मिठास बढ़ा सकता है। इसी कारण से टाइप 2 डायबिटीज रोगियों (herbal remedies for diabetes) के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद है लेकिन इसके और भी फायदे हैं।

3-मेथी के बीज (herbal remedies for diabetes)

मेथी एक और औषधि है, जो ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद कर सकती है। इन बीजों में फाइबर और अन्य रसायन होते हैं, जो कार्बोहाइड्रेट और शुगर के पाचन को धीमा करने में मदद करते हैं। कुछ शोधों में इस बात का प्रमाण भी मिला है कि मेथी के बीज टाइप 2 डायबिटीज को शुरुआत में ही रोकने में मदद कर सकते हैं।

4-गुड़मार (Gymnema)

गुड़मार एक ऐसी जड़ी बूटी है, जो भारत में प्रचुर मात्रा में पाई जाती है। इसको शुगर डिस्टरॉयर के रूप में भी जाना जाता है। गुड़मार का उपयोग करने वाले लोगों पर हुए एक शोध में पाया गया था कि इसकी पत्तियां और इसका अर्क दोनों ही डायबिटीज (herbal remedies for diabetes) को रोकने में मदद कर सकते हैं।

गुड़मार के फायदे

ब्लड शुगर लेवल लो रखता है।

इंसुलिन लेवल बढ़ाता है।

इसके पत्ते या अर्क दोनों का उपयोग करना फायदेमंद हो सकता है।

लेकिन एक बार इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर बात करें।

5-अदरक (ginger: herbal remedies for diabetes)

अदरक एक और जड़ी बूटी है, जिसका बरसों से पारंपरिक चिकित्सा में प्रयोग होता आ रहा है। अदरक का उपयोग लोग अक्सर पाचन और सूजन संबंधी समस्याओं के इलाज में करते हैं। कई शोधों में इस बात का खुलासा हो चुका है कि अदरक डायबिटीज को कंट्रोल (herbal remedies for diabetes)करने में आपकी मदद कर सकती है।

कैसे ले सकते हैं अदरक

अदरक का पाउडर या कटा हुआ अदरक खाकर।

चाय में डालकर पीने से।

कैप्सूल के रूप में।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on