Sign In
  • हिंदी

Ayurveda For Mental Health: स्ट्रेस और डिप्रेशन में 'संजीवनी' का काम करती हैं ये 5 आयुर्वेदिक औषधियां, मानसिक बीमारियों से मिलता है छुटकारा

तनाव और अवसाद कई जटिल रोगों का कारण बनता है, इसलिए इसका समय रहते उपचार करना बहुत जरूरी है। तनाव और अवसाद का उपचार करने के लिए यहां हम आपको कुछ आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बता रहे हैं।

Written by Atul Modi |Published : August 19, 2021 5:37 PM IST

कोरोना महामारी ने न सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य पर असर डाला है, बल्कि इससे मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) पर भी बुरा असर पड़ा है। इस दौरान सबसे ज्यादा लोग स्ट्रेस और डिप्रेशन से परेशान दिखाई दिए। तमाम लोगों की जॉब चली गई, कईयों के रिश्ते टूटे, तो वहीं अधिकांश लोग घरेलू कलह की वजह से मानसिक समस्याओं का सामना करना पड़ा है। अगर आप भी मानसिक तनाव और डिप्रेशन से जूझ रहे हैं तो आप नेचुरल तरीके से इसका उपचार कर सकते हैं क्योंकि लंबे समय तक रहने वाली है समस्याएं अल्जाइमर, पार्किंसन, बाइपोलर डिसऑर्डर आदि मानसिक बीमारियों का कारण बन सकता है। तो आखिर मानसिक समस्याओं का समाधान कैसे किया जाए?

मानसिक रोगों का आयुर्वेदिक उपचार - Ayurveda For Mental Health

आयुर्वेद चिकित्सा 5000 साल पुराना एक विज्ञान है जिसके अंतर्गत आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के द्वारा उपचार किया जाता है, यह सभी प्रकार के जटिल रोगों का उपचार करने में सक्षम है। यह तनाव और चिंता जैसी मानसिक समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। यहां हम आपको पांच ऐसे आयुर्वेदिक औषधियों व जड़ी-बूटियों के बारे में बता रहे हैं जो आपको इन समस्याओं से निजात दिलाएंगे।

1. वचा

वचा प्राचीन भारत के ऋषि द्वारा खोजी गई एक चमत्कारी जड़ी बूटी है। वचा की जड़ अलग-अलग मानसिक समस्याओं में राहत देने के लिए जानी जाती है। वचा का प्रभाव काफी शांत होता है। यह जड़ी-बूटी अच्छी नींद दिलाने में मदद करती है। चिंता को दूर करता है। वचा का सेवन चूर्ण के रूप में भोजन के बाद किया जा सकता है। वचा तेल की मदद से नस्य किया जाता है जो मस्तिष्क में हैप्पी हार्मोन का प्राकृतिक रूप से निर्माण करते हैं।

2. ब्राह्मी

ब्राह्मी एक प्राचीन जड़ी बूटी है जिसका उपयोग चिकित्सकों द्वारा 3000 से अधिक वर्षों से किया जा रहा है। ब्राह्मी का अर्क तनाव दूर करने के साथ-साथ याददाश्त को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। तनाव को दूर करने के लिए आमतौर पर ब्राम्ही का तेल सिर में मालिश करने की सलाह दी जाती है। इससे आपको तुरंत फायदा मिलता है।

3. अश्वगंधा

अश्वगंधा एक पारंपरिक जड़ी बूटी है। जो हमारे मूड को ठीक करता है। याददाश्त को बढ़ाता है। ब्लड शुगर को बनाए रखता है। चिंता और तनाव को दूर करता है। साथ ही यह अनिद्रा की शिकायत को भी दूर करने में सक्षम है।  इसका सेवन आप दूध या गर्म पानी के साथ कर सकते हैं। इसके लिए आप चिकित्सक की सलाह ले सकते हैं।

4. भृंगराज

भृंगराज एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है, जिसे चाय के रूप में सेवन किया जा सकता है। भृंगराज शरीर को डिटॉक्सिफाई करने में मदद करता है। यह आपके मस्तिष्क को ऑक्सीजन की पूर्ति करने और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने का काम करता है। जिससे मानसिक तनाव और चिंता की समस्या दूर होती है।भृंगराज तेल को बालों में लगाने से रूसी, बालों का झड़ना और सफेद बालों की समस्या दूर होती है।

5. जटामासी

जटामासी एक तनाव-रोधी जड़ी बूटी है। इसकी जड़ों में चिकित्सकीय गुण पाए जाते हैं। यह तनावग्रस्त दिमाग को शांत करने में मदद करता है। यह दिमाग और शरीर को विषाक्त पदार्थों से मुक्त रखते हुए लाभ पहुंचाता है। यह मस्तिष्क के कार्यों को बढ़ावा देता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on